महाराष्ट्र ड्रामा: सियासी जंग में कड़वाहट भी बढ़ी, एक-दूसरे को मानसिक अस्पताल भेज रहे बीजेपी-शिवसेना


मुंबई
महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर मची रार अब कड़वाहट में तब्दील होती दिख रही है। बीजेपी के नेता रावसाहेब दानवे पाटील ने कहा है कि अगले कुछ दिनों में जब सदन में हम बहुमत साबित करेंगे तो विपक्षी नेताओं को मानसिक अस्पताल जाना होगा। वहीं, शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि बीजेपी के नेता सत्ता के बिना नहीं रह सकते। यदि उनसे सत्ता छिनती है तो वे मानसिक बीमार हो सकते हैं।


बीजेपी लीडर रावसाहेब दानवे पाटील ने बहुमत जुटाने के लिए ऑपरेशन लोटस चलाए जाने की बात से भी इनकार किया। उन्होंने कहा कि हमारे पास पहले से ही पर्याप्त संख्या में विधायक हैं और हम बहुमत साबित करेंगे। बता दें कि रविवार शाम को ऐसी खबरें थीं कि बीजेपी ने नारायण राणे के नेतृत्व में 4 नेताओं को बहुमत जुटाने के लिए विपक्षी दलों के विधायकों से संपर्क साधने की जिम्मेदारी दी गई है। इन नेताओं में रावसाहेब दानवे पाटील का भी जिक्र था। 


संजय राउत बोले, बीजेपी वालों के लिए बनवाएंगे अस्पताल
इससे पहले संजय राउत ने दावा किया, 'सदन पटल पर हम बहुमत साबित करने जा रहे हैं। अगर उन्हें सत्ता से दूर कर दिया गया तो ऐसे में बीजेपी नेताओं का दिमाग खराब हो जाएगा। वे मानसिक संतुलन खो देंगे।' उन्होंने कहा, 'एक बार जब हम सरकार बना लेंगे तो बीजेपी नेताओं की मानसिक बीमारी का इलाज कराने के लिए विशेष अस्पताल बनाएंगे।' राउत ने कहा कि उनकी पार्टी, एनसीपी और कांग्रेस के पास जरूरी बहुमत है और वे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के समक्ष साबित कर देंगे कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्या उनके पास है।