राजस्थान विधानसभा / भाजपा के विधायक वैल में धरने पर बैठे, स्पीकर सीपी जोशी से बातचीत के बाद शांत हुआ मामला


जयपुर. गुरुवार को विधानसभा में भाजपा नेता अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे। हालांकि कुछ समय बाद धरना खत्म कर दिया गया। भाजपा के सभी सहयोगी दल भी इस धरने में शामिल हुए। इस दौरान सभी विधायक वैल में आकर बैठ गए। जिसके बाद सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। अध्यक्ष सीपी जोशी से चर्चा के बाद भाजपा ने अपना धरना खत्म कर दिया। बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक शांति धारिवाल की टिप्पणी का भाजपा नेता विरोध कर रहे थे।


जानकारी अनुसार, राजस्थान कृषि उपज मंडी संशोधन विधेयक पर शांति धारीवाल अपनी बात रख रहे थे। विधेयक पर चर्चा के दौरान सदन में हंगामा हो गया। इस दौरान सदन में कई भाजपा नेताओं ने वॉकआउट किया। भाजपा के विधायकों का कहना था कि धारीवाल की विपक्ष पर अभद्र टिप्पणी को सदन की कार्यवाही में शामिल नहीं किया जाए। साथ ही विपक्ष का आरोप था कि उन्हे बोलने का मौका नहीं दिया जाता। कुछ देर बाद भाजपा विधायक सदन में लौटे और धरने पर बैठ गए। जिसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।


जिसके बाद अध्यक्ष सीपी जोशी द्वार मीटिंग बुलाई गई। मीटिंग में चर्चा के बाद अध्यक्ष फिर सदन में पहुंचे। उन्होंने धरने पर बैठे विधायकों से बात कर मामला शांत करवाया।


अध्यक्ष ने अभद्र टिप्पणी को रद्द करने का दिया आश्वासन- राठौड़


राजेंद्र राठौड़ ने धरना खत्म होने की सूचना देते हुए बताया कि अध्यक्ष ने बोला की अगर कोई अभद्र टिप्पणीं हुई है तो उसे रद्द कर देंगे। जिसके बाद हमने धरना वापस लेने का निर्णय लिया है। कल से हम फिर से सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेंगे।