कोरोना संकट में फंसे डेढ़ लाख पाकिस्‍तानी आना चाहते हैं स्‍वदेश, इमरान खान लेने को तैयार नहीं


इस्‍लामाबाद
किलर कोरोना वायरस की मार से जूझ रहे पाकिस्‍तान में हालात और ज्‍यादा खराब होते जा रहे हैं। पाकिस्‍तान में अब तक 495 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं और 3 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वैश्विक संकट की इस घड़ी में दुनियाभर में फंसे करीब डेढ़ लाख पाकिस्‍तानी लोग स्‍वदेश वापस आना चाहते हैं लेकिन इमरान खान उन्‍हें आने दे रहे हैं। इसका खुलासा खुद इमरान खान ने किया है।


डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान ने शनिवार को कहा कि विदेशों में खासतौर पर कोरोना प्रभावित देशों से करीब डेढ़ लाख पाकिस्‍तानी स्‍वदेश वापस आना चाहते हैं लेकिन सरकार के पास उनके लिए सुविधा ही नहीं है। इमरान ने कहा, 'ऐसी (गंभीर) स्थिति में इतनी बड़ी तादाद में विदेशों में रह रहे लोगों को रखने के लिए हमारे पास इतनी सुविधा नहीं है।' हालांकि उन्‍होंने दावा किया कि अगले दो से तीन सप्‍ताह में सुविधाएं तैयार हो जाएंगी।

पाकिस्‍तानी छात्रों को निकालने से किया था इनकार
विदेशों में रह रहे ये वही पाकिस्‍तानी हैं जो हर साल करीब 22 अरब डॉलर पाकिस्‍तान भेजते हैं। एक तरफ जहां भारत सरकार संकट में फंसे अपने नागरिकों को वापस ला रही है वहीं इमरान खस्‍ता माली हालत को देखते हुए इससे किनारा कर रहे हैं। इससे पहले इमरान खान ने कोरोना के गढ़ चीन से पाकिस्‍तानी छात्रों को निकालने से इनकार कर दिया था। भारत के विपरीत पाकिस्‍तानी छात्रों को चीन से नहीं निकालने पर उनकी अपने देश में काफी आलोचना हुई थी। दरअसल, बढ़ती महंगाई, एफएटीएफ की ग्रे लिस्‍ट, टिड्ड‍ियों के हमले से जूझ रहा पाकिस्‍तान पैसे की भारी किल्‍लत से जूझ रहा है। हालत यह हो गई है कि उसे अमेरिका, वर्ल्‍ड बैंक और एशियाई विकास बैंक के सामने हाथ फैलाना पड़ा है।


इमरान ने वर्ल्‍ड बैंक से मांगा कर्ज
अमेरिका के बाद वर्ल्ड बैंक और एशिया विकास बैंक यानी एडीबी ने भी पाकिस्तान को कोरोना वायरस और उसके सामाजिक-आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिए 58.8 करोड़ डॉलर देने पर सहमति जताई है। कोरोना के मामले बढ़ते ही इमरान सरकार ने दोनों बैंकों से बातचीत शुरू कर दी थी। अमेरिका ने गुरुवार को किस्तान को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 1 करोड़ डॉलर की मदद देने की घोषणा की थी।

पाक मीडिया के मुताबिक, सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि वर्ल्ड बैंक 23.8 करोड़ डॉलर और एडीबी 35 करोड़ डॉलर का लोन देगा। यह पाकिस्तान के लिए बड़ी राहत की बात है क्योंकि उसे उम्मीद थी कि वर्ल्ड बैंक उसे 14 करोड़ डॉलर ही देगा, लेकिन उसने 23 करोड़ डॉलर से अधिक की मदद की प्रतिबद्धता जाहिर की है। उधर, अमेरिकी मदद की घोषणा करते हुए प्रिंसिपल डेप्युटी असिस्टेंट सेक्रटरी एलिस वेल्स ने ट्वीट किया, 'अमेरिका-पाकिस्तान सरकार की साझीदारी कोविड19 लड़ाई में मदद कर रही है। अमेरिकी सरकार ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई तेज करने के लिए पाकिस्तान को शुरुआती रूप से 1 करोड़ डॉलर दे रही है।'

गर्मी से खत्‍म होगा कोरोना: इमरान खान
दुनियाभर के देशों को जहां कोरोना से लड़ने के लिए कोई उपाय नहीं सूझ रहे, वहीं पाकिस्तानी पीएम इमरान खान उम्मीद के साथ दावा कर रहे हैं कि उनके देश का गर्म व शुष्क मौसम कोरोना के खतरे को कम कर देगा। पाकिस्‍तान में कोरोन से संक्रमित लोगों की संख्‍या 495 पहुंच गई है। इसमें सबसे ज्‍यादा मामले 252 सिंध से सामने आए हैं। इसके बाद पंजाब में 96, बलोचिस्‍तान में 92 मामले सामने आए हैं।