निर्भया रेप के दोषियों को फांसी, अब कहां है छठा नाबालिग दोषी?


नई दिल्ली
निर्भया के चार दोषियों (पवन, विनय, मुकेश, अक्षय) को उनके किए की सजा मिल गई। लेकिन क्या आपको याद है इस केस में दो दोषी और थे, एक राम सिंह, जिसकी जेल में ही मौत हो गई। दूसरा वह जिसे सबसे ज्यादा दरिंदगी करने के बावजूद छोड़ना पड़ा, क्योंकि वह उस वक्त नाबालिग था। निर्भया का यह दोषी कैसा दिखता है, यह कोई नहीं जानता। यह इकलौता था जिसकी कोई तस्वीर सामने नहीं आई।


बना कुक, नए नाम से शुरू की जिंदगी
निर्भया के नाबालिग दोषी को पुलिस प्रशासन ने नया नाम देकर साउथ इंडिया भेज दिया था। अब वह वहां कुक का काम करता था। खाना बनाने की कला उसने जुवेनाइल जेल में रहने के दौरान ही सीखी थी। पुलिस अधिकारी ने उस वक्त इस बारे में बताया था कि नाबालिग दोषी को दिल्ली से बहुत दूर भेज दिया गया गया। उसे नौकरी पर र


ई थी सिर्फ 3 साल की सजा
वारदात के वक्त नाबालिग होने के कारण उसे जुवेनाइल कोर्ट से 3 साल की ही सजा हुई थी। फिलहाल वो आजाद है। लेकिन अब कहां है यह साफ नहीं है।

सबसे ज्यादा दरिंदगी का आरोप
कहा जाता है कि निर्भया और उसके दोस्त को उस बस में इसी नाबालिग ने बुलाकर बैठाया था। जबकि वह एक स्कूल बस थी। यह भी आरोप लगते रहे कि इसी दोषी ने निर्भया के साथ सबसे ज्यादा दरिंदगी की थी। उसी ने निर्भया के शरीर में लोहे की रॉड घुसाई थी, जिससे हुए इंफेक्शन से उसकी मौत हुई। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हुई थी।