कोरोना का जीनोम सिक्वेंस मिला, वैक्सीन बनाने में मिलेगी मदद


अहमदाबाद
पूरी दुनिया में वैज्ञानिक कोरोना वायरस (Coronaviurs) से लड़ने के लिए नए-नए तरीके खोज रहे हैं। इसी बीच, गुजरात ) के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एक बड़ी सफलता हासिल की है। गुजरात बायोटेक्नॉलजी रिसर्च सेंटर के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस का पूरा जीनोम सिक्वेंस खोज निकाला है। गुजरात बायोटेक्नॉलजी रिसर्च सेंटर के निदेशक चैतन्य जोशी ने यह जानकारी दी।


गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी इसके बारे में ट्वीट किया है। उसमें लिखा है कि जीबीआरसी के वैज्ञानिकों पर हमें गर्व है। देश के किसी भी राज्य की प्रयोगशाला में पहली बार कोरोना वायरस का पूरा जीनोम सिक्वेंस खोजा गया है। 


सैंपलों के डीएनए टेस्ट के बाद मिली सफलता
चैतन्य जोशी ने बताया कि हमने गुजरात में कई कोरोना वायरस पीड़ित मरीजों के शरीर से वायरस का जींस लिया। करीब 100 सैंपल का डीएनए टेस्ट किया गया, तब जाकर यह सफलता मिली।


ये फायदे होंगे
जीनोम सिक्वेंस से कोरोना वायरस की उत्पत्ति, दवा बनाने, वैक्सीन विकसित करने, वायरस के टारगेट और वायरस को खत्म करने को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें पता चलेंगी। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस में 9 बदलाव देखने को मिले हैं। इससे कोरोना का वैक्सीन खोजने में आसानी होगी