लॉकडाउन की परेशानियों से कांग्रेस वाकिफ-सचिन पायलट-जल्द शुरू होंगे मनरेगा के काम, ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार  



प्रदेश एवं संभाग स्तरीय कन्ट्रोल रूम के प्रतिनिधियों तथा जिलाध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये वार्ता करते प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट।


जयपुर. जयपुर। कांग्रेस एवं भामाशाहों के सहयोग से लगभग सभी जिलों में जनता रसोई शुरू की गई है जिसके माध्यम से वंचित एवं जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। सरकार की गाइडलाइन तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शीघ्र मनरेगा के कार्य भी शुरू किए जाएंगे जिससे ग्रामीण श्रमिकों को उनके निकट ही रोजगार उपलब्ध हो सके।


यह बात राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कार्यकर्ताओं से कही। पायलट ने गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा कोविड-19 के सम्बन्ध में प्रदेश एवं संभाग स्तरीय कन्ट्रोल रूम के प्रतिनिधियों तथा जिलाध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये वार्ता कर जिलों में किए जा रहे राहत कार्यों का फीडबैक लिया।


पायलट ने कहा कि कोरोना महामारी से स्वयं सुरक्षित रखते हुए कांग्रेसजनों एवं जनसहभागियों के साथ लोगों को अधिक से अधिक राहत पहुंचाने में जुटे रहें। उन्होंने कहा कि आमजन को फूड पैकेट वितरित करने के साथ ही पशुधन का भी ध्यान रखा जाए। पायलट ने पशुओं के लिए चारे-पानी आदि की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चूंकि गर्मी का मौसम प्रारम्भ हो गया है ऐसे में पेयजल की आपूर्ति के विषय में भी ध्यान रखा जाना आवश्यक है।


जिलाध्यक्षों ने अवगत कराया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों के कई लोग अभी भी अन्य प्रदेशों की फंसे हुए हैं। उनके लिए भी भोजन, आवास, चिकित्सा एवं पुन: राजस्थान में लाने की व्यवस्था की जाए। पायलट ने बताया कि अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी राजस्थानियों की देखभाल के लिए पहले भी वहां की राज्य सरकारों से निवेदन किया गया था तथा अब जो नए मामले संज्ञान में आए हैं उनके बारे में भी समय-समय पर राज्य सरकारों तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के सम्पर्क किया जा रहा है तथा किसी भी प्रवासी को उसके वर्तमान प्रवास वाले राज्य में किसी प्रकार का कष्ट नहीं होने दिया जाएगा।