राजस्थान में छह हजार से ज्यादा आयुष चिकित्सक व नर्सिंग कर्मी तैनात


जयपुर राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम में लगे स्वास्थ्यकर्मियों की मदद के लिए 6,624 आयुष चिकित्सकों और चिकित्सकों को सहायकों (कम्पाउंडर) की सेवाएं चिकित्सा विभाग ने अपने अधीन कर ली है।चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि इससे क्षेत्र में काम कर रहे चिकित्सकों को मदद मिलेगी साथ ही कोरोना संक्रमण के रोकथाम के प्रयासों को बल मिलेगा। डॉ. शर्मा ने बताया, ‘‘जयपुर रामगंज में संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए व्यापक स्तर पर जांच के लिए नमूने लिए जा रहे हैं।’’ उन्होंने बताया, ‘‘ रामगंज क्षेत्र को जनगणना आधारित ब्लॉक्स बनाकर 30 क्लस्टर में बांटा गया है। क्षेत्र की मैपिंग कर स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा कल 557 नमूने लिए गए जिनमें 542 नमूनों में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई जबकि 11 नमूनों में संक्रमण की पुष्टि है एवं चार नमूनों के नतीजों का इंतजार है।’’ डॉ.शर्मा ने बताया, ‘‘ पूरे राज्य में अब तक 19,107 नमूने लिए गए हैं जिनमें से 17,851 नमूनों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं 430 नमूनों में कोरोना वायरस से संक्रमण की पुष्टि हुई।’’ उन्होंने बताया कि 826 नमूनों की जांच रिपोर्ट आना अभी बाकी है। उल्लेखनीय है कि राज्य में अब तक बर्हिगमन रोग विभाग (ओपीडी) में 40 लाख लोगों की जांच की जा चुकी है। सक्रिय निगरानी दल के सदस्यों ने अब तक एक करोड़ 43 घरों का सर्वेक्षण कर करीब छह करोड़ 10 लाख लोगों की जांच की है।