5 बदमाशों ने देर रात कार सवार परिवार को लूटा, पुलिस ने डेढ़ घंटे में सभी को पकड़ा


हनुमानगढ़. शहर के गोलुवाला थाना क्षेत्र में देररात करीब 2.30 बजे 5 बदमाशों द्वारा कार सवार लोगों के साथ लूट को अंजाम दिया गया। जिन्हे पुलिस द्वारा करीब डेढ घंटे बाद ही पकड़ लिया गया। पांचों बदमाश हौंडा सिटी कार में सवार होकर मौके पर पहुंचे थे। जिसके बाद उन्होंने दूसरी कार में मौजूद परिवार को बाहर निकालकर कार लूट ली। साथ ही 3 मोबाइल फोन और सोने की अंगूठी भी लूट ले गए। 


रात करीब 2.30 बजे गंगानगर निवासी मुकेश अपनी पत्नी विमला, भाभी उर्मिला और दो बच्चियों के साथ कार में शादी समारोह से घर जा रहे थे। इस दौरान गोलुवाला थानाक्षेत्र में कुछ बदमाश उनकी कार के सामने आ गए। जिन्होंने पिस्तौल और लोहे की रोड का भय दिखाकर कार समेत कीमती सामान लूट लिया। जिसकी जानकारी परिवार ने तुरंत पुलिस को दी।


तीन थानों की पुलिस और चेतक ने बदमाशों को दबोचा


घटना की जानकारी मिलने के बाद जंक्शन पुलिस और चेतक ने पीछा कर पांचों बदमाशों को पकड़ लिया। जिनके पास से हथियार समेत जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं। वहीं बदमाशों द्वारा लूटी गई गाड़ी भी बरामद कर ली गई है। बताया जा रहा है कि बदमाशों को तीन थानों की पुलिस और चेतक के सहयोग से दबोचा गया।


मामले में अर्शदीप उर्फ लाडी, दीपक शर्मा(25), अर्शदीप उर्फ खेंपल (26), लवपाल उर्फ लवि (22) और धर्मेंद्र (28) को गिरफ्तार किया गया है। पांचो आरोपी पंजाब के रहने वाले हैं। इसमे धर्मेन्द्र के खिलाफ पहले भी लूट और डकैती के 15 से अधिक मामले दर्ज हैं। पूछताछ में कई वारदातें खुलने की संभावना। आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में जंक्शन सीआई धीरेंद्र सिंह, एएसआई शंभुदयाल और हैड कांस्टेबल अजित सिंह शामिल रहे।


Popular posts
स्कूली दिनों के तीन दोस्तों के हाथ में जल, थल और नभ.. की सुरक्षा की कमान
Image
जिला प्रशासन की शेयरिंग-केयरिंग हेल्पलाइन निभा रही है बेटे जैसा फर्ज लॉकडाउन में बन रही है बुजुर्गो के बुढ़ापे की लाठी
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
 स्पेशल फ्लाइट: सरकार को फटकार / मिडिल सीट भरने पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार को एयरलाइंस की बजाय लोगों की सेहत की चिंता करनी चाहिए
Image
रेलवे की बेदर्द अपील- श्रमिक ट्रेनों में गर्भवती महिलाएं, बच्चे सफर न करें; सवाल- क्या इन ट्रेनों में लोग सैर पर निकले हैं? बच्चों और महिलाओं को छोड़कर मजदूर घर कैसे लौटेंगे?
Image