आगरा: दिल्ली से पैदल गांव जा रहा था मजदूर, चलते-चलते हुई मौत


आगरा
लॉकडाउन में दिल्ली से मध्यप्रदेश स्थित अपने गांव को निकले एक मजदूर की शनिवार सुबह आगरा के सिकंदरा क्षेत्र में पैदल चलते-चलते सीने के दर्द के बाद मौत हो गई। इस तरह मौत का यह पहला मामला सामने आने के बाद प्रशासन में खलबली मच गई है। अभी भी आगरा से जुड़े अन्य राज्यों के संपर्क मार्गों पर सैकड़ों पैदल जा रहे मजदूरों का काफिला लगातार बना हुआ है।

जानकारी मिली है कि एमपी के मुरैना जिले में अंबाह के गांव बड़ का पुरा के 38 वर्षीय रणवीर दिल्ली के तुगलकाबाद में एक रेस्टोरेंट से होम डिलिवरी का काम करते थे। लॉकडाउन के बाद रेस्टोरेंट बंद हो गया। वह शुक्रवार को दिल्ली से अपने घर के लिए दो साथियों संजय और एक अन्य के साथ पैदल निकल पड़े। शनिवार को सुबह पांच बजे रणवीर आगरा पहुंचे थे।


चलते-चलते होने लगा सीने में दर्द
बताया जाता है कि सिकंदरा क्षेत्र में कैलाश मोड़ पर गुप्ता हार्डवेयर के सामने पहुंचते ही रणवीर को बेचैनी होने लगी। वह सड़क किनारे बैठ गए। हार्डवेयर शॉप मालिक वहीं पर खड़े थे। उन्होंने रणवीर को परेशान देखा तो उनके पास जाकर हाल पूछा। रणवीर ने उन्हें सीने में दर्द होने की बात कही। इस पर दुकान मालिक ने दुकान के सामने तिरपाल बिछाकर वहीं आराम करने को कह दिया और घर से चाय और बिस्कुट लाकर उन्हें खिला दिए, लेकिन इसके बाद रणवीर की तबीयत बिगड़ती चली गई और थोड़ी देर में ही उनकी मौत हो गई।

एसएसपी बोले, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का है इंतजार

बताया जाता है कि सूचना मिलते ही सुबह साढ़े सात बजे पुलिस वहां पहुंची। मोबाइल के माध्यम से उसकी शिनाख्त हो गई। रणवीर के साले अरविंद सुबह नौ बजे पहुंच गए। एसएसपी बब्लू कुमार ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद रणवीर की मौत का कारण स्पष्ट होगा।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image