अश्वगंधा से कोविड 19 का इलाज संभव, IIT दिल्ली ने किया दावा



अश्वगंधा को कई हेल्थ बेनिफिट्स के लिए जाना जाता है। इससे एंग्जायटी, स्ट्रेस, जलन-सूजन आधी कम करने में मदद मिलती है। अश्वगंधा एक छोटा सा पौधा होता है, जो अधिकतर भारत और नार्थ अफ्रीका में पाया जाता है। आयुर्वेद में यह कुछ सबसे जरूरी पौधों में से एक है। अब तक कई बार ऐसे बयान सामने आए हैं, जिनमें यह कहा गया है की आयुर्वेद में कोरोना का इलाज या बचाव संभव है। अब इससे जुडी एक रिसर्च सामने आई है, जिसमें यह कहा गया है की यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी Covid 19 से बचाव में काम आ सकती है।


IIT दिल्ली और जापान में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ एडवांस्ड इंडस्ट्रियल साइंस एंड टेक्नोलॉजी की रिसर्च के अनुसार, यह पाया गया है की अश्वगंधा और प्रोपोलिस में ऐसे प्राकृतिक तत्व हैं, जिनसे कोरोना वायरस से बचाव संभव है। प्रोपोलिस, एक हनी बी प्रोडक्ट है, जिसमें आपके शरीर को क्षति से बचाने और बीमारी से लड़ने के लिए एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद हैं।


अश्वगंधा को covid 19 ट्रीटमेंट के लिए किया जा रहा टेस्ट


भारत सरकार ने यह पता लगाने के लिए एक ट्रायल की शुरुआत की है की क्या अश्वगंधा, एंटी-मलेरिया ड्रग Hydroxychloroquine की जगह ले सकता है या नहीं? वैज्ञानिकों द्वारा कुछ आयुर्वेदिक दवाओं पर क्लीनिकल ट्रायल किए जा रहे हैं। इस ट्रायल में आयुष मंत्रालय, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) भी शामिल हैं।


अश्वगंधा के क्या है फायदे?
अश्वगंधा के कई लाभ है जिन्हें विज्ञान ने भी माना है। इनमे से कुछ इस प्रकार हैं:


स्ट्रेस और एंग्जायटी: इस जड़ी-बूटी को स्ट्रेस और एंग्जायटी दूर करने के लिए कारगर माना गया है। इस पर हुए क्लीनिकल ट्रायल में भी यह सामने आया है की जिन लोगों में स्ट्रेस या एंग्जायटी से जुडी परेशानी है, यह उनके लिए काम आएगी।


ब्लड शुगर: रिसर्चर्स की माने तो अश्वगंधा ब्लड शुगर लेवल को कम करने के भी काम आती है। इससे इन्सुलिन में सुधार आता है। स्टडीज में यह भी पाया गया है की यह हेल्दी एडल्ट्स और डायबिटिक रोगियों दोनों में इन्सुलिन सुधार का काम करती है।


जलन या सूजन: यह कहा गया है की अश्वगंधा में एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं। इसका मतलब यह है की यह जलन या सूजन को कम करने में मदद करती है। स्टडीज में यह भी पाया गया है की यह जड़ी-बूटी इम्यून सेल्स की मदद करती है। इम्यून सेल्स हमारे शरीर में सभी तरह की बिमारियों से हमें बचाने का काम करते हैं।


क्या अश्वगंधा आपके लिए सेफ है?
अधिकतर लोगो के लिए कम या मीडियम डोज लेने पर यह पूरी तरह से सुरक्षित है। हालांकि, गर्भवती महिलाओं को अश्वगंधा नहीं लेना चाहिए। अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, जिसके पौधे या पत्तियों को पीसकर इसका पाउडर बना लिया जाता है। इसके अनेकों हेल्थ बेनिफिट्स हैं। लेकिन आपके डॉक्टर द्वारा बताई गई किसी भी दवाई की जगह इसे न लें। इसे पाउडर के रूप में 450 मिलीग्राम से लेकर 2 ग्राम तक की डोज में लिया जा सकता है। इसकी कोई भी डोज लेने से पहले डॉक्टर से बात कर लें। 


Popular posts
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image