अलवर / निकाय चुनाव में कैमरे वाला पेन लगाकर वोट डालने पहुंचे कांग्रेस पार्षद


अलवर ). राजस्थान में मंगलवार को 24 जिलों के 46 निकायों में महापौर, सभापति और अध्यक्ष पद चुनने के लिए पार्षदों ने वोट डाले। इस दौरान अलवर में कांग्रेस के सभी पार्षद कैमरे वाला पेन लगाकर वोट डालने पहुंचे। माना जा रहा है कि पार्षद क्रॉस वोटिंग न करें, इसलिए उन्हें कैमरे वाला पेन लगाकर वोट डालने के लिए कहा गया।


सभी पार्षदों की जेब में एक जैसा पेन देखकर ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारियों को शक हुआ। उन्होंने पार्षदों को रोककर जांच की। पेन में कैमरा लगा होने की पुष्टि के बाद पुलिस ने पार्षदों के पेन जब्त कर लिए। कैमरे वाला पेन मिलने के बाद नगर परिषद मे हड़कंप मच गया।


अलवर के तीनों निकायों में कांग्रेस जीती


अलवर जिले के तीन निकायों के लिए सुबह 10 बजे से 2 बजे तक वोटिंग हुई थी। दोपहर बाद इनके परिणाम आए। तीनों ही जगहों पर कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत हुई। अलवर नगर परिषद से कांग्रेस की बीना गुप्ता, भिवाड़ी नगर परिषद से शीशराम तंवर और थानागाजी नगर पालिका में चौथमल सैनी पालिका अध्यक्ष चुनी गईं।



वहीं, अलवर में मतदान के दौरान भाजपा पार्षद विमल जैन के पास से 500 रुपए की गड्डियां मिलीं। वे इसे बनियान में छिपा कर ले जा रहे थे। जैन ने अपनी सफाई में कहा कि उनके पास कुल 2 लाख रुपए थे, जो उन्हे खर्चे के लिए दिए गए थे।