चिकित्सा मंत्री ने दी एसएमएस अस्पताल को कई सौगातें -ब्लड बैंक को मिली ‘न्यू ब्लड कॉम्पोनेंट सेपरेशन‘ यूनिट, डाटा सेंटर को मिली आईटी सेल और अस्थि रोग विभाग के नवीनीकृत भवन का हुआ लोकार्पण


जयपुर, । चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा और चिकित्सा राज्य मंत्री  सुभाष गर्ग ने शनिवार को एसएमएस अस्पताल के ब्लड बैंक 'न्यू ब्लड कॉम्पोनेंट सेपरेशन' यूनिट, अस्थि रोग विभाग के नॉर्थ विंग-प्रथम वार्ड के नवीनीकरण का लोकार्पण और अस्पताल में ही स्थित डाटा सेंटर की आईटी सेल का शुभारंभ कर प्रदेशवासियों को चिकित्सा सौगात दी।  


डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि 55 लाख रुपए की लागत से निर्मित 'न्यू ब्लड कॉम्पोनेंट सेपरेशन' यूनिट लगने से यूनिट में रक्त और अवयव बनाए जा सकेंगे तथा एसडीपी या प्लेटलेट्स भी तैयार की जा सकेंगी। इसके अलावा 30 लाख रुपए की लागत से नॉर्थ विंग-प्रथम वार्ड को नवीनीकृत किया है, जिससे अस्थि रोग विभाग में भर्ती मरीजों को बेहतर सुविधा मिल पाएगी। उन्होंने बताया कि चिकित्सालय में 12 लाख की लागत से नवनिर्मित डाटा सेंटर की आईटी सेल का भी शुभारंभ किया। इससे मरीजों के आईपीडी, ओपीडी, सर्जरी से जुड़े सभी डाटाज और जरूरी जानकारी मिल सकेगी। यहां एसएमएस और इससे संबद्ध अस्पतालों के डाटा को केंद्रीयकृत किया जा सकेगा साथ ही पेशेंट की केसेज की हिस्ट्री रखने में भी मदद मिलेगी। 


चिकित्सा मंत्री ने एमएमएस अस्पताल के सुश्रुत सभागार में आयोजित रक्तदाता सम्मान समारोह में भी शिरकत की और प्रदेश में रक्तदान के लिए उल्लेखनीय कार्य कर रहे संस्थानों और व्यक्तियों को भी सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के दूरदराज के क्षेत्रों में रक्तदान की सुविधाएं बढ़ाने के लिए पिछले दिनों 5 करोड़ 8 लाख रुपए लागत के 14 रक्त संग्रहण एवं परिवहन वाहनों को रवाना किया है, जो कि सातों संभागों के मुख्यालयों सहित 14 जिलों में स्वैच्छिक रक्तदाताओं से रक्त संग्रहण कर संबंधित जिलों के ब्लड बैंकों को सौपेंगे। डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि रक्तदान में  सामाजिक सहयोग की भावना होना बेहद जरूरी है। सरकार रक्तदान के प्रति और अधिक जागरूकता लाने और इसके संग्रहण के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। इस अवसर पर लाड़ली रक्त सेवा योजना और कैंसर पीड़ित बच्चों हेतु रक्त योजना के पोस्टर्स का भी विमोचन किया गया।   
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री सुभाष गर्ग ने इस अवसर पर संबोधित करते हुए कहा कि जयपुर के एसएमएस ब्लड बैंक विभाग द्वारा हर साल 1 लाख 40 हजार ब्लड व अन्य अवयव (कॉम्पोनेंट) मरीजों को उपलब्ध कराए जाते हैं, जो कि उपलब्धि की बात है। उन्होंने चिकित्सकों को आव्हान करते हुए कहा कि मेडिकल बहुत नोबल प्रोफेशन है, इसमें मरीजों की सेवा करते हुए और उन्हें बेहतर सुविधाएं देकर ही एमएमएस अस्पताल को देश के श्रेष्ठ संस्थानों में शामिल करवा सकते हैं।


इस अवसर पर आदर्श नगर विधायक रफीक खान, फतेहपुर विधायकहाकम अली, नीम का थाना विधायक सुरेश मोदी, एसएमएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य  सुधीर भंडारी, अस्पताल के अधीक्षक डीएस मीना, डॉ सुनीता बुंदस सहित वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।


 


Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image