गहलोत बोले- राज्यपाल ने भाजपा के साथ मिलकर काम किया, उन्हे पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं


जयपुर. महाराष्ट्र में शनिवार सुबह बड़ा सियासी उलटफेर पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा कि महाराष्ट्र से जो जानकारी आ रही है, वही चौकाने वाली है। राज्यपाल ने भाजपा के साथ मिलकर काम किया। एनसीपी विधायकों के हस्ताक्षरों को सत्यापित किए बिना देवेंद्र फडणवीस जी को पद की शपथ दिलाई। राज्यपाल को नैतिक आधार पर इस्तीफा देना चाहिए। उन्हे पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।गहलोत ने लिखा कि महाराष्ट्र में जो हुआ वह छिपकर करने की क्या आवश्यकता थी, इस प्रकार अचानक राष्ट्रपति शासन का हटना और इस प्रकार शपथ दिलाना कौनसी नैतिकता है? ये लोग देश में लोकतंत्र को किस दिशा में ले जा रहे हैं? समय आने पर देशवासी इसका जवाब देंगे और बीजेपी को सबक सिखाएंगे।


इस माहौल में फडणवीस मुख्यमंत्री के रूप में कामयाब हो पाएंगे, यह डाउटफुल है। सीएम और डिप्टी सीएम दोनों ने गिल्टी कॉन्शियस होकर शपथ ली है वे गुड गवर्नेंस दे पाएंगे इसमें संदेह है जिसका नुकसान महाराष्ट्र की जनता को होगा।


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
CAA के खिलाफ साम्प्रदायिक दंगा मामले में 5वीं चार्जशीट दाखिल, मुस्लिम भीड़ ने व्यक्ति को जिंदा जलाया
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image