महाराष्ट्र का ड्रामा: गिरेगी फडणवीस सरकार? जयंत पाटील को ही विप मान रहा विधानसभा सचिवालय


मुंबई
महाराष्ट्र में सत्ता के संघर्ष का अंतिम नतीजा मंगलवार को निकल सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को फ्लोर टेस्ट की बात कही है। अब विधानसभा में एनसीपी का विप कौन होगा, यह अहम सवाल बन चुका है। एक तरफ बीजेपी का कहना है कि उसे समर्थन करने वाले एनसीपी के नेता अजित पवार पर ही विप जारी करने का अधिकार है। दूसरी तरफ एनसीपी कह रही है कि अब यह हक जयंत पाटील का है, जो विधायक दल के नए नेता बने हैं। खुद शरद पवार ने सोमवार को कहा था कि अजित पवार के पास विप जारी करने का कोई अधिकार नहीं है। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी लीडर रावसाहेब दानवे पाटील का कहना है कि अजित पवार ही नेता माने जाएंगे।


इस बीच महाराष्ट्र सचिवालय के सचिव राजेंद्र भागवत ने कहा, 'सचिवालय को एक पत्र मिला है, जिसमें जयंत पाटील को एनसीपी विधायक दल का नेता बनाए जाने की बात है। हालांकि अब तक स्पीकर की ओर से फैसला नहीं लिया गया है।' एक अधिकारी ने बताया, 'हमें एनसीपी से जानकारी मिली है कि जयंत पाटील को विधायक दल का नया नेता चुना गया है और उन्हें ही विप जारी करने का अधिकार है।'


अजित पवार की नहीं दी गई थी जानकारी, पाटील ही रेकॉर्ड में'
उन्होंने इसके तकनीकी पहलू के बारे में बात करते हुए कहा कि एक विप की नियुक्ति के बाद राजनीतिक दल को विधानसभा स्पीकर या सचिवालय को जानकारी देनी होती है। ऐसे में बीजेपी और अजित पवार के लिए मुश्किल हो सकती है। रेकॉर्ड के मुताबिक यदि जयंत पाटील को विप माना गया तो फिर एनसीपी के विधायकों का बीजेपी के लिए वोट करना मुश्किल होगा। यदि ऐसा नहीं होता है तो फिर देवेंद्र फडणवीस के लिए सरकार बचाना मुश्किल होगा।


सचिवालय मानता है कि जयंत पाटील ही NCP के विप'
पूरी प्रकिया को समझाते हुए सचिवालय के एक अधिकारी ने कहा, 'अजित पवार को 30 अक्टूबर को एनसीपी का विप नियुक्त किया गया था, लेकिन इस संबंध में विधानसभा सचिवालय को कोई जानकारी नहीं दी गई।' यही नहीं अधिकारी ने कहा कि सोमवार को एनसीपी ने जानकारी दी कि अजित पवार को हटा दिया गया है और जयंत पाटील को विधायक दल का नेता बनाया गया है और उनके पास ही विप का हक है। ऐसी स्थिति में सचिवालय के लिए पाटील ही एनसीपी के विप हैं।



Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
ग्राम विकास अधिकारी को झूठी सूचना देना पडा भारी-पंचायती राज विभाग भीण्डर  ने दिये एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश
Image
योनि में डालने से पहले हम डिल्डो पर थूकते हैं, क्या कोराना वायरस फैलने का खतरा है?
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image