महाराष्ट्र में पहली बार ठाकरे राज: उद्धव मुख्यमंत्री, 6 दिन में दूसरे सीएम ने शपथ ली


मुंबई
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। ठाकरे ने मराठी भाषा में शपथ ली। भगवा रंग के कपड़ों में शपथ लेने पहुंचे उद्धव ठाकरे ने जैसे ही कहा, 'मी उद्धव बाला साहेब ठाकरे...' वैसे ही पूरे शिवाजी पार्क में शिवसेना की तरफ से जोर से उद्घोष होने लगा। इस दौरान जबरदस्त आतिशबाजी भी देखने को मिली।


उद्धव ठाकरे के साथ शिवसेना विधायक दल के नेता एकनाथ खडसे और और सुभाष देसाई ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली। बता दें कि शिवसेना के ये दोनों नेता ही पूर्व की फडणवीस सरकार में भी मंत्री थे। खडसे जहां ठाणे से आते हैं, वहीं देसाई कोकण क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।


इसके बाद एनसीपी के जयंत पाटिल ने मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली। पाटिल 1999 से 2008 तक राज्य में वित्त, शिक्षा और ग्रामीण विकास मंत्री का पद भी संभाल चुके हैं। पाटिल के नाम सबसे ज्यादा 9 बजट पेश करने का रेकॉर्ड है। इसके बाद छगन भुजबल ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। छगन भुजबल एक समय शिवसेना के अक्रामक नेता हुआ करते थे, शिवसेना के विधायक और मुंबई के मेयर रहे। 1991 में उन्होंने शिवसेना को छोड़कर कांग्रेस का दाम थामा था। भुजबल को पिछड़ी जाति का मजबूत नेता माना जाता है। छगन भुजबल ऐसे नेता हैं, जो शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी में काम कर चुके हैं।


इसके बाद कांग्रेस के विधायक दल के नेता बाला साहेब थोराट ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। थोराट महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं। राज्य में राजस्व और कृषि मंत्री पद भी संभाल चुके हैं।


शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचने वाले नेताओं में डीएमके प्रमुख स्टालिन, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल, कपिल सिब्बल, कमलनाथ, सुशील शिंदे, अशोक चव्हाण, पृथ्वीराज चव्हाण, एनसीपी की सुप्रिया सुले, प्रफुल पटेल, शिवसेना के मनोहर जोशी, संजय राउत, एमएनएस के राज ठाकरे भी मौजूद थे। इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस भी इस दौरान मौजूद थे। 


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
ग्राम विकास अधिकारी को झूठी सूचना देना पडा भारी-पंचायती राज विभाग भीण्डर  ने दिये एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
 तब्लीगी जमात का मामला / केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- सीबीआई जांच की जरूरत नहीं, समय पर रिपोर्ट पेश की जाएगी
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image