पीएम नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' में शांति बनाए रखने के लिए देशवासियों को सराहा


नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 59वें 'मन की बात' में अयोध्या फैसले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले व उसे लेकर देशवासियों की प्रतिक्रिया को पर बात की। उन्होंने इस बात की सराहना की कि फैसले के बाद कैसे देशवासियों ने देशहित को सबसे ऊपर रखते हुए शांति बनाए रखी और एकता का संदेश दिया। पीएम ने 'मन की बात में' एनसीसी दिवस, आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे, फिट इंडिया मूवमेंट को लेकर भी बात की।


जब मिलने वाली थी मोदी को सजा
एनसीसी कडेट्स से बात करने के दौरान नरेंद्र मोदी ने उन्हें एनसीसी डे की बधाई दी और उनके सवालों का भी जवाब दिया। नागालैंड की विनोले किसो ने पीएम से सवाल किया कि क्या उन्हें कभी एनसीसी में सजा मिली थी? इस पर प्रधानमंत्री ने हंसते हुए जवाब दिया कि उन्हें कभी सजा नहीं मिली। हालांकि, उन्होंने एक घटना का जरूर जिक्र किया और बताया कि एक बार वह पेड़ पर चढ़ गए थे, जिसके बाद उन्हें लगा था कि उन्हें सजा मिलेगी लेकिन जब बाकी लोगों को पता चला कि वह मांझे में फंसे एक पक्षी को बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े थे तो उन्हें सजा मिलने की जगह तारीफ मिली।


इन सवालों का भी दिया जवाब
पीएम ने फिल्मों और भारत में घूमने कहां जाए इससे जुड़े सवालों का भी जवाब दिया। उन्होंने बताया कि उनकी टीवी व मूवी में रुचि नहीं है और अब उन्हें किताब पढ़ने का भी समय नहीं मिल पाता है। पीएम ने कहा कि दूसरों की तरह उनकी भी थोड़ी आदत बिगड़ गई है और वह चीजों के बारे में पता करने के लिए गूगल का सहारा लेने लगे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि हिमालय उन्हें काफी प्रिय है। उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई प्रकृति को नजदीक से महसूस करना चाहे तो उन्हें नॉर्थ ईस्ट जरूर जाना चाहिए।

आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे
पीएम ने 7 दिसंबर को आने वाले आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे के बारे में बात करते हुए कहा कि इस दिन 'हम अपने वीर सैनिकों, उनके पराक्रम, उनके बलिदान को याद तो करते ही हैं साथ ही में अपना योगदान भी देते हैं।' पीएम ने कहा कि, इस दिन सभी को आगे आना चाहिए और सभी के पास आर्म्ड फोर्सेज का फ्लैग होना चाहिए। मोदी ने सभी से आर्म्ड फोर्सेज के अदम्य साहस, शौर्य और समर्पण भाव के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करें और वीर सैनिकों का स्मरण करें।

फिट इंडिया मूवमेंट
फिट इंडिया मूवमेंट के तहत सीबीएसई द्वारा फिट इंडिया वीक की पहल को भी पीएम ने सराहा। उन्होंने सभी स्कूलों व बच्चों और बड़ों से अनुरोध किया कि वे इसका हिस्सा बनें और स्वस्थ्य भारत को बनाने में सहयोग दें।


अयोध्या फैसले पर की बात
पीएम नरेंद्र मोदी ने 9 नवंबर को आए अयोध्या फैसले को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि पिछली मन की बात में उन्होंने इलाहाबाद कोर्ट के आए फैसले को लेकर जिक्र किया था कि कैसे देशवासियों ने उस दौरान शांति बनाए रखी थी। पीएम ने कहा कि इस बार 9 नवंबर को आयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जिस तरह देशवासियों ने शांति बनाए रखी उसने यह साबित कर दिया कि 130 करोड़ भारतवासियों के लिए देशहित से बढ़कर कुछ नहीं है। देश में शांति, एकता और सदभावना के मूल्य सर्वोपरि हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा 'अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद, अब देश, नई उम्मीदों, आकांक्षाओं के साथ नए रास्ते पर, नए इरादे लेकर चल पड़ा है। न्यू इंडिया इसी भावना को अपनाकर शांति, एकता और सद्भावना के साथ आगे बढ़े यही मेरी कामना है, हम सबकी कामना है'।

संविधान दिवस
हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। पीएम ने कहा कि इस बार का दिवस खास है क्योंकि संविधान को अपनाने के 70 साल पूरे हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि इस बार इस अवसर पर संसद में विशेष आयोजन होगा और फिर साल भर पूरे देशभर में अलग-अलग कार्यक्रम होंगे।


प्रधानमंत्री ने कहा 'भारत का संविधान ऐसा है जो प्रत्येक नागरिक के अधिकारों और सम्मान की रक्षा करता है और यह हमारे संविधान निर्माताओं की दूरदर्शिता की वजह से ही सुनिश्चित हो सका है'।


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
CAA के खिलाफ साम्प्रदायिक दंगा मामले में 5वीं चार्जशीट दाखिल, मुस्लिम भीड़ ने व्यक्ति को जिंदा जलाया
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image