शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे का शपथ ग्रहण, हाई कोर्ट ने सुरक्षा को लेकर जताई चिंता


मुंबई
महाराष्ट्र के भावी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे गुरुवार को पद की शपथ लेंगे। उनका शपथ ग्रहण समारोह मुंबई के शिवाजी पार्क में रखा गया है। मुंबई पुलिस ने इस आयोजन में जुटने वाली भारी भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। हालांकि, बॉम्बे हाई कोर्ट ने शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण पर सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है।
बॉम्बे हाई कोर्ट ने बुधवार को चिंता जताते हुए कहा कि सार्वजनिक मैदानों पर इस किस्म के कार्यक्रमों को आयोजित करने का यह नियमित सिलसिला नहीं होना चाहिए। हाई कोर्ट ने एक एनजीओ की याचिका पर साल 2010 में इस क्षेत्र को 'साइलेंस जोन' घोषित कर दिया था। तब हाई कोर्ट ने कहा था कि शिवाजी पार्क में केवल 6 दिसंबर (आंबेडकर परिनिर्वाण दिवस), 1 मई (महाराष्ट्र स्थापना दिवस) और 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) को ही कार्यक्रम आयोजित किए जा सकते हैं।
कोर्ट ने कहा- कल के शपथग्रहण पर कुछ नहीं कहेंगे
हाई कोर्ट के जज एस सी धर्माधिकारी और आर आई चागला की डिविजन बेंच ने इस मामले पर कहा, 'हम कल के शपथ ग्रहण के बारे में कुछ नहीं कहना चाहते हैं। हम बस प्रार्थना कर रहे हैं कुछ गलत ना हो।' बता दें कि इस मामले में वीकॉम ट्रस्ट नाम के एक एनजीओ ने हाई कोर्ट में याचिका डाली थी कि शिवाजी पार्क खेल का मैदान है या फिर मनोरंजन की जगह।
जस्टिस धर्माधिकारी ने इसपर टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के बाद यहां पर ऐसे कार्यक्रम नियमित रूप से होने लगेंगे और हर किसी को ग्राउंड की जरूरत पड़ेगी। हाई कोर्ट ने सुरक्षा की दृष्ठि से भी सवाल उठाए। हाई कोर्ट ने प्रशासन से कहा, 'आपको सुरक्षा का ध्यान रखना होगा। आप किसी की भी जान को खतरे में नहीं डाल सकते।'
गुरुवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के लिए शिवाजी पार्क में तैयारियां जोरों पर हैं। ग्राउंड पर गड्ढों को भरने के लिए मिट्टी डाली जा रही है। इसके अलावा शपथ ग्रहण के लिए भव्य मंच भी तैयार किया जा रहा है।

महाराष्ट्र के 17वें सीएम बनेंगे उद्धव ठाकरे
जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र विकास अघाड़ी के नेता चुने गए शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए शिवाजी पार्क और उसके आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उद्धव ठाकरे गुरुवार शाम को महाराष्ट्र के 17वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) के नेता उद्धव ठाकरे परिवार से मुख्यमंत्री बनने वाले पहले सदस्य होंगे।

आपको बता दें कि शिवसैनिकों का शिवाजी पार्क से भावनात्मक जुड़ाव रहा है। यहीं पर शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे दशहरा रैली को संबोधित किया करते थे। बाल ठाकरे के पुत्र उद्धव ने भी इस परंपरा को बकरार रखा। बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार भी शिवाजी पार्क के एक कोने में किया गया था, जिसे शिवसैनिक 'शिवतीर्थ' कहते हैं। शपथ ग्रहण समारोह में विभिन्न पार्टियों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है।
पुलिस अधिकारियों ने कहा- सुरक्षा के हर इंतजाम मौजूद
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) विनय चौबे समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को समारोह स्थल पर सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की। शिवाजी पार्क पुलिस थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'कार्यक्रम में हजारों लोगों के पहुंचने की संभावना है, लिहाजा समारोह स्थल पर पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे।' अधिकारी ने कहा कि सादी वर्दी में पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया जाएगा। साथ ही भीड़ पर नजर रखने के लिये ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने आगंतुकों और वीवीआईपी मेहमानों के वाहनों की पार्किंग जैसे मुद्दों पर भी यातायात प्रबंधन के साथ चर्चा की।