वार्ड परिसीमन के प्रस्ताव पारदर्शिता के साथ तैयार करें-प्रशासक

जयपुर। जयपुर हैरिटेज एवं ग्रेटर जयपुर नगर निगम के प्रशासक एवं आयुक्त विजयपाल सिंह ने बुधवार को नगर निगम मुख्यालय में आयोजित वार्ड परिसीमन समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वार्ड परिसीमन के प्रस्ताव पारदर्शिता के साथ ठोस तरीके से तैयार किये जाये। कोई भी मतदाता मतदान से वचिंत नहीं रहना चाहिए। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जयपुर ग्रेटर एवं जयपुर हैरिटेज नगर निगम के वार्डो के प्रस्ताव 30 नवम्बर तक तैयार करके मुख्यालय भिजवाना सुनिश्चित करें। 

 

वार्ड परिसीमन में इन बातों का रखे ध्यान-

 

प्रशासक  विजयपाल सिंह ने निर्देश दिये है कि वार्ड परिसीमन के समय ई.बी. (एन्यूमरेशन ब्लॉक) का ध्यान रखा जाये। किसी भी हाल में ई.बी. ब्रेक नहीं होनी चाहिए। गौरतलब है कि ई.बी. जनगणना की ईकाई है। 

- जो ई.बी. जिस विधानसभा में है उसी में रहनी चाहिए। 

- दो विधानसभा क्षेत्रों की सीमा मिल रही है वहॉ ओवरलेपिंग नहीं होनी चाहिए।

- प्रस्ताव बनाते समय निगम के अधिकारी, कर्मचारी एवं ईआरओ प्रस्ताव एवं नक्शे पर संयुक्त हस्ताक्षर करेगे। 

- हर विधानसभा क्षेत्र के साथ-साथ हर वार्ड का भी अलग मैप होना चाहिए। 

 

गौरतलब है कि वार्ड वार एवं विधानसभा वार प्रस्ताव एवं नक्शे जोन स्तर पर तैयार किये जायेंगे। यह कार्य सभी जोनों को 30 नवम्बर तक करना होगा। इन प्रस्तावों के आधार पर निगम मुख्यालय में जयपुर ग्रेटर एवं हैरिटेज नगर निगम के एक्जार्ई प्रस्ताव एवं नक्शे तैयार किये जायेंगे। बैठक में उपायुक्तों ने बताया कि वार्ड परिसीमन का 70 प्रतिशत से ज्यादा कार्य पूर्ण किया जा चुका है और बुधवार से फील्ड वेरिफिकेशन का कार्य किया जायेगा। 

 

इस दौरान अतिरिक्त आयुक्त  अरूण गर्ग, जोन उपायुक्त एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।