आखिर जामिया और AMU में अचानक हिंसा की आग क्यों फैली? क्या इसके पीछे कोई साजिश थी?


नई दिल्ली
नागरिकता कानून पर असम और पश्चिम बंगाल में भड़की आग रविवार शाम को अचानक दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया और फिर यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) तक जा पहुंची। जामिया नगर में प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर जमकर उत्पात मचाया। डीटीसी की 3 बसों और कुछ अन्य गाड़ियों को फूंक दिया गया। इसके बाद AMU में भी हिंसक प्रदर्शन होने लगे। जामिया और AMU में पुलिस उपद्रवियों को पकड़ने के लिए यूनिवर्सिटी में घुसी। इस दौरान अंदर जमकर तोड़फोड़ हुई । तनाव के मद्देजनर जामिया नगर के स्कूल बंद हैं। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को भी 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। दोनों जगह अब हालात काबू में है। आखिर जामिया और AMU में अचानक हिंसा की आग क्यों फैली? क्या इसके पीछे कोई साजिश थी? जानिए 14 घंटे का पूरा घटनाक्रम...


दोपहर करीब 3 बजे: जामिया नगर में अचानक हिंसा भड़की
रविवार को दोपहर 3 बजे के करीब अचानक जामिया और उसके आसपास के इलाके में हिंसा भड़क उठी। प्रदर्शनकारियों ने कई बसों में आग लगा दी और पुलिस पर पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़े ।


शाम 5 बजे: बसों में आग, पथराव
न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में रविवार दोपहर 3 बजे के करीब प्रदर्शनकारियों ने जमकर तांडव मचाया। प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की 3 बसों और दमकल की एक गाड़ी को आग के हवाले कर दिया। कई दूसरे वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई। छात्रों का दावा है कि उनके प्रदर्शन में कुछ स्थानीय लोग शामिल हो गए और उन्होंने ही हिंसा फैलाई।


जामिया प्रशासन का आरोप, कैंपस में जबरन घुसी पुलिस
हिंसा के बाद पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है। इस बीच जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर वसीम अहमद खान ने दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। खान ने कहा कि पुलिस जबरन कैंपस में घुस गई, उसे इसकी इजाजत नहीं दी गई थी। उन्होंने साथ में यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों और छात्रों को पीटा और उन्हें कैंपस से बाहर निकाल दिया।



जामिया की वीसी ने बताया क्या हुआ
जामिया की वीसी नजमा अख्तर ने बताया कि जामिया के छात्रों ने प्रदर्शन का आह्वान नहीं किया था। मुझे बताया गया कि आसपास की कॉलोनियों के लोगों ने प्रदर्शन का आह्वान किया था। उनका पुलिस के साथ झड़प हो गई और वे यूनिवर्सिटी का गेट तोड़कर कैंपस के अंदर आ गए। पुलिस प्रदर्शनकारियों और और लाइब्रेरी में बैठे छात्रों को पहचान नहीं पाई। कई छात्र और स्टाफ घायल हुए हैं। काफी अफरातफरी का माहौल था और ऐसे में पुलिस यूनिवर्सिटी से एंट्री की इजाजत नहीं ले पाई। मैं अपने छात्रों से शांति और उनकी सुरक्षा की अपील करती हूं।
पुलिस ने किया आरोपों को खारिज
दूसरी तरफ, जामिया प्रशासन के आरोपों को दिल्ली पुलिस ने खारिज किया है। दिल्ली पुलिस के डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि पुलिस सिर्फ बाहरी लोगों को कैंपस से निकालने के लिए गई थी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कैंपस में पुलिस के ऊपर पथराव किया गया। उन्होंने बताया कि दोपहर की हिंसा के बाद पुलिस प्रदर्शनकारियों को जब खदेड़ रही थी तो उनके ऊपर पथराव किया गया। पुलिस की दो मोटरसाइकिलों को भी फूंक दिया गया। उन्होंने कहा कि हिंसा में दिल्ली पुलिस के 6 जवान भी जख्मी हुए हैं और कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। बिस्वाल ने कहा कि ऐसी भी अफवाहें उड़ रही हैं कि पुलिस ने फायरिंग की है। ऐसा कुछ नहीं हुआ है, झूठी खबरें प्रचारित की जा रही हैं। पुलिस ने लोगों से अपील की है वे अफवाहों पर ध्यान न दें।


पुलिस हेडक्वॉर्टर के बाहर छात्रों का प्रदर्शन
कैंपस में पुलिस के घुसने के विरोध में जामिया के छात्र आईटीओ स्थित दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी और दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र भी शामिल थे। छात्रों ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। जब पुलिस ने हिरासत में लिए गए जामिया के छात्रों को रिहा किया, तब जाकर छात्रों ने पुलिस मुख्यालय का घेराव बंद किया।


जामिया के आसपास के इलाकों के सभी स्कूल आज रहेंगे बंद
दिल्ली सरकार ने साउथ ईस्ट दिल्ली जिले के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को आज बंद रखने का आदेश दिया है। दिल्ली के डेप्युटी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट किया, 'दिल्ली में साउथ ईस्ट जिले में ओखला, जामिया, न्यू फ्रैंड्स कालोनी, मदनपुर खादर क्षेत्र के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल कल (सोमवार) बंद रहेंगे। वर्तमान हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार ने स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है।'


बीजेपी और आप में वार-पलटवार
बीजेपी ने इस हिंसा के लिए सीधे-सीधे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया है। दूसरी तरफ, दिल्ली के डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर हार के डर से दिल्ली में आग लगवाने का आरोप लगाया है। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में हुई हिंसा के लिए सीधे-सीधे अरविंद केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया है। आम आदमी पार्टी के सीनियर नेता और दिल्ली के डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि वह चुनाव में हार के डर से दिल्ली में आग लगवा रही है। सिसोदिया ने ट्वीट किया, 'चुनाव में हार के डर से बीजेपी दिल्ली में आग लगवा रही है। AAP किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ है। ये बीजेपी की घटिया राजनीति है। इस विडियो में खुद देखें कि किस तरह पुलिस के संरक्षण में आग लगाई जा रही है।


कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना
कांग्रेस ने दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच भिड़ंत के मामले पर बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। छात्रों की बर्बरतापूर्वक पिटाई का विरोध करते हुए कांग्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह केवल चुनावी प्रचार में ही व्यस्त हैं। कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, 'नौजवानों पर बर्बरतापूर्वक हमले हो रहे हैं। जेएनयू, हैदराबाद, वाराणसी, इलाहाबाद, अलीगढ़ के बाद जामिया इसका उदाहरण है। जामिया के छात्रों पर बर्बर हमले की निंदा करते हैं। लाइब्रेरी में घुसकर आंसू गैस और यहां तक कि गोलियां भी चलाई गई।'


AMU में भी पुलिस पर पथराव
नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ रविवार शाम अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के आसपास के इलाकों में छात्रों और पुलिस के बीच झड़प हुईं। शुरुआती इनपुट्स के अनुसार, एएमयू में छात्रों ने विवि परिसर की एक इमारत के पास प्रदर्शन शुरू किए थे, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। इस पथराव में अलीगढ़ के डीआईजी समेत कुछ अन्य लोगों के घायल हो गए। सूत्रों के मुताबिक, अलीगढ़ मुस्लिम विवि में रविवार शाम छात्रों ने परिसर में बने एडमिशन ब्लॉक के पास प्रदर्शन शुरू किए थे। इस दौरान जब मौके पर पुलिस के अधिकारी फोर्स के साथ पहुंचे तो प्रदर्शनकारी छात्रों ने इनपर पथराव शुरू किया। इस दौरान प्रशासन के कई अधिकारियों को मौके पर भेजा गया, जिसके बाद अधिकारियों ने छात्रों से वापस हॉस्टल में जाने की अपील की। हिंसा को देखते हुए यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। दूसरी तरफ, अलीगढ़ में आज सरकारी और निजी स्कूल बंद रखने का आदेश दिया गया है।

जामिया के छात्र को गोली लगने की अफवाह के बाद हिंसा भड़की
AMU में छात्रों का विरोध प्रदर्शन तब हिंसक हो गया जब सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैल गई कि जामिया में प्रदर्शन कर रहे एक छात्र की पुलिस की गोली से मौत हो गई। इस खबर के बाद कैंपस में प्रदर्शन तेज हो गया और छात्रों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। बाद पुलिस ने सख्ती बरतते हुए बल प्रयोग किया।


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image