CAA विरोधः राजघाट पर कांग्रेस का 'सत्याग्रह' धरना, प्रियंका गांधी बोलीं- संविधान की रक्षा करेंगे


नई दिल्ली
नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में कांग्रेस ने राजघाट पर 'सत्याग्रह' प्रदर्शन किया। यह कार्यक्रम दिल्ली पुलिस की अनुमति न मिलने की वजह से रविवार को रद्द हो गया था। कार्यक्रम में भाग लेने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी, राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद भी पहुंचे।

इस प्रदर्शन में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ, अहमद पटेल और आनंद शर्मा भी शामिल थे। 3:30 बजे के आसपास कांग्रेस का धरना शुरू हुआ। सोनिया गांधी ने धरने के दौरान संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। इसके बाद बारी-बारी से सभी नेताओं ने प्रस्तावना को पढ़ा। कांग्रेस ने इस धरने का इंटरनेट पर सीधा प्रसारण भी किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे मंच पर बैठे तो नहीं दिखे लेकिन वह व्यवस्था संभाल रहे थे।

प्रस्तावना पढ़ने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा, 'आंदोलन में शहीद हुए लोगों के नाम पर संकल्प करते हैं कि संविधान की रक्षा की जाएगी।' उन्होंने उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन के दौरान मारे गए दो लोगों का नाम भी लिया। प्रियंका गांधी ने बिजनौर के अनस और सुलेमान की बात की।

सोनिया गाधी के धरने में पहुंचने के बाद राष्ट्रगीत गाया गया। सबसे पहले राहुल गांधी ने संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। कमलनाथ ने इस मौके पर कहा, 'हमारी संस्कृति संबंध जोड़ने की है। भारत की पहचान पूरे विश्व में इसी संस्कृति से है। यह जो कानून लाया गया है हमारी मध्य प्रदेश की सरकार इसे ठुकराती है और हम भारत के संविधान के सम्मान करते हुए मध्य प्रदेश की सरकार इसका पालन नहीं करेगी।'

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, 'बीजेपी धर्म के नाम पर देश को बांटना चाहती है। इसे मुल्क कभी स्वीकार नहीं करेगा। यह हिंदू राष्ट्र का अजेंडा है।'


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता
Image
गहलोत बोले- धार्मिक आधार पर लोगों को देश से बाहर करने के लिए सरकार खुद अफवाह फैला रही
Image
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं टेस्ट किट का इंतजाम करके रखें-हैल्थ केयर वर्कर्स हमारे अग्रिम योद्धा-बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए-मुख्यमंत्री -अशोक गहलोत-
Image
निर्भया कांड के दोषी की दया याचिका गृह मंत्रालय को मिली, जल्द भेजी जाएगी राष्ट्रपति के पास
Image