हैदराबाद: रेप आरोपी की पत्नी ने कहा- बाकियों को भी गोली मारें, वरना शव नहीं दफनाएंगे


हैदराबाद
हैदराबाद रेप केस के चारों आरोपी शुक्रवार को पुलिस एनकाउंटर में मार दिए गए। इन चार आरोपियों में से एक की पत्नी ने शनिवार को अपने पति की मौत पर दुख और नाराजगी जाहिर की है। आरोपी चेन्नकेशावुलू की पत्नी रेणुका ने कहा कि गलती करने पर कितने लोग जेल में हैं? उन्हें भी इसी तरह गोली मार दी जानी चाहिए। हम तब तक शवों को नहीं दफनाएंगे, जब तक जेल में बंद तमाम आरोपियों को गोली नहीं मारी जाती।


रेणुका की उम्र 17 साल है और वह गर्भवती हैं। रेणुका का कहना है कि उनके साथ अन्याय हुआ है। वह नारायणपेट जिले में अपने गांव में कुछ अन्य ग्रामीणों के साथ धरने पर बैठ गई हैं। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि पुलिस को उन्हें भी मार देना चाहिए क्योंकि वह अब अकेली हैं। रेणुका ने शुक्रवार को कहा था, 'मुझे बताया गया था कि मेरे पति को कुछ नहीं होगा और वह जल्द ही वापस लौट आएगा। अब मुझे नहीं पता कि क्या करूं। कृपया मुझे भी उस जगह ले चलो, जहां मेरे पति को मारा गया और मुझे भी मार दो।' 


गरीब और कम पढ़े-लिखे परिवार से थे आरोपी
स्थानीय लोगों ने बताया कि चारों आरोपी आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से आते थे। कम पढ़े-लिखे होने के बावजूद इनकी कमाई अच्छी थी और वे विलासितापूर्ण जीवनशैली के साथ रहते थे। सारी कमाई ये लोग शराब और अन्य चीजों पर खर्चा करते थे। इस बीच कथित पुलिस मुठभेड़ में चारों आरोपियों के मारे जाने को लेकर यहां लोगों में खुशी का माहौल है। महिलाओं के एक समूह ने एनकाउंटर पर खुशी जताई।


हैदराबाद पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को रेप की वारदात का सीन रीक्रिएट करने के लिए आरोपियों को घटनास्थल ले जाया गया था। वहां आरोपियों ने भागने की कोशिश और पुलिस के हथियार छीनकर फायरिंग भी की। रोकने के बावजूद आरोपी नहीं माने और उन सभी को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। 


Popular posts
स्कूली दिनों के तीन दोस्तों के हाथ में जल, थल और नभ.. की सुरक्षा की कमान
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
 स्पेशल फ्लाइट: सरकार को फटकार / मिडिल सीट भरने पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार को एयरलाइंस की बजाय लोगों की सेहत की चिंता करनी चाहिए
Image
रेलवे की बेदर्द अपील- श्रमिक ट्रेनों में गर्भवती महिलाएं, बच्चे सफर न करें; सवाल- क्या इन ट्रेनों में लोग सैर पर निकले हैं? बच्चों और महिलाओं को छोड़कर मजदूर घर कैसे लौटेंगे?
Image
केन्द्र सरकार वहन करें श्रमिकों व मजदूरों को अपने-अपने राज्यों में पहुंचाने का खर्चा: पायलट
Image