हैदराबाद: सदमे में आरोपियों के परिजन, पत्नी बोली- मुझे भी वहीं ले चलो और मार डालो


हैदराबाद
हैदराबाद रेप मामले के चारों आरोपियों को एनकाउंटर में मार दिए जाने के बाद उनके परिजन ने हैरानी जताई है। मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ की मां ने जब एनकाउंटर में बेटे की मौत की खबर सुनी तो वह सन्न रह गईं। वह सिर्फ इतना कह पाईं कि उनका बेटा चला गया। वहीं, आरोपी चेन्नाकेशावुलू की पत्नी ने कहा कि मुझे भी वहीं ले चलो जहां मेरे पति को मारा गया और मुझे भी मार डालो।


बताते चलें कि इस मामले में आरिफ के पिता ने कहा था कि उनके बेटे ने अगर अपराध किया है तो उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। आरोपी चेन्नाकेशावुलू की पत्नी रेणुका ने पति की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि पति की मौत के बाद उसके पास कुछ बचा नहीं है इसलिए पुलिस उसे भी मार दे। रेणुका ने कहा कि उसे भरोसा दिलाया गया था कि उसके पति को कुछ नहीं होगा और वह जल्द ही लौट आएगा। रेणुका ने आगे कहा, 'नहीं, मुझे कुछ नहीं पता कि क्या करना है। प्लीज, मुझे वहीं ले चलिए जहां मेरे पति को मारा गया और मुझे भी मार दीजिए।' बता दें कि चेन्नाकेशावुलू और रेणुका की हाल ही में शादी हुई थी। 


हर किसी को इस तरह से नहीं मार दिया जाता है'
आरोपी जोल्लू शिवा के पिता जोल्लू रामप्पा ने कहा कि हो सकता है कि उनके बेटे ने अपराध किया हो लेकिन उसका इस तरह से अंत नहीं होना था। उन्होंने कहा कि बहुत सारे लोग रेप और मर्डर करते हैं लेकिन उन्हें इस तरह से नहीं मारा जाता है। उनके साथ ऐसा सलूक क्यों नहीं किया जाता है।
स्थानीय लोगों ने बताया कि चारों आरोपी बेहद गरीब परिवार से थे और बहुत कम पढ़े-लिखे थे। हालांकि, वे पैसे कमाते थे और सारे पैसे शराब और बाकी चीजों पर उड़ा देते थे। तेलंगाना के नारायणपेट का रहने वाला आरिफ ट्रक ड्राइवर बनने से पहले एक पेट्रोल पंप पर काम करता था। जोल्लू शिवा और जोल्लू नवीन गुडीगांदला गांव के रहने वाले थे और क्लीनर का काम करते थे। चेन्नाकेशावुलू भी उसी गांव का रहने वाला था और वह ट्रक चलाता था। लोगों ने बताया कि चेन्नाकेशावुलू को किडनी संबंधित बीमारी भी थी।


Popular posts
स्कूली दिनों के तीन दोस्तों के हाथ में जल, थल और नभ.. की सुरक्षा की कमान
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
 स्पेशल फ्लाइट: सरकार को फटकार / मिडिल सीट भरने पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार को एयरलाइंस की बजाय लोगों की सेहत की चिंता करनी चाहिए
Image
रेलवे की बेदर्द अपील- श्रमिक ट्रेनों में गर्भवती महिलाएं, बच्चे सफर न करें; सवाल- क्या इन ट्रेनों में लोग सैर पर निकले हैं? बच्चों और महिलाओं को छोड़कर मजदूर घर कैसे लौटेंगे?
Image
केन्द्र सरकार वहन करें श्रमिकों व मजदूरों को अपने-अपने राज्यों में पहुंचाने का खर्चा: पायलट
Image