महात्मा गांधी की भावना के अनुरूप राज्य सरकार ने ‘निरोगी राजस्थान‘ अभियान चलाकर नया इतिहास बनाने की ओर कदम बढ़ाया-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत


जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश का हर व्यक्ति स्वस्थ रहे, वह बीमार ही नहीं हो। इस सोच के साथ राज्य सरकार ने 'निरोगी राजस्थान' अभियान आज शुरू किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस अभियान को योजनाबद्ध रूप से घर-घर तक पहुंचाकर लोगों को बेहतर स्वास्थ्य के लिए जागरूक करेगी ताकि लोग लाइफ स्टाइल से जुड़ी बीमारियों सहित अन्य गंभीर रोगों से खुद को बचा सकें। 


गहलोत बुधवार को सवाई मानसिंह अस्पताल के सभागार में 'निरोगी राजस्थान अभियान' के शुभारम्भ समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के लाभ सरलता, सुगमता एवं पारदर्शी रूप से आमजन तक पहुंचाने के उद्देश्य से 'एक नम्बर, एक कार्ड, एक पहचान' के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए पांच महिलाओं को जन-आधार कार्ड प्रदान कर जन-आधार योजना का शुभारम्भ किया। साथ ही 'निरोगी राजस्थान' के लोगो, फोल्डर एवं मोबाइल एप का लोकार्पण भी किया। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की भावना थी कि हर व्यक्ति निरोगी रहे। उनकी इस भावना के अनुरूप राज्य सरकार ने यह अभियान चलाकर नया इतिहास बनाने की ओर कदम बढ़ाया है। राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य मित्र एवं आमजन के सहयोग से इस अभियान को एक बड़े आंदोलन के रूप में घर-घर तक पहुंचाएगी। हमारा प्रयास है कि हर गांव में एक महिला एवं एक पुरूष 'स्वास्थ्य मित्र' के माध्यम से लोगों को बीमारियों से बचाव के बारे में जागरूक किया जाए। इसके लिए करीब 80 हजार स्वास्थ्य मित्रों का सहयोग लिया जाएगा। 


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि एक वर्ष की अल्प अवधि में राज्य सरकार द्वारा लिए गए फैसलों और नवाचारों से राजस्थान स्वास्थ्य के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की परिकल्पना है कि प्रदेश में हर व्यक्ति निरोगी रहे। उन्होंने कहा कि जनचेतना के इस कार्यक्रम को सफल बनाने में महिला एवं बाल विकास, वन एवं पर्यावरण, खाद्य, शिक्षा, गृह, खेल एवं युवा मामलात, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग सहयोग करेंगे। 


नारायणा अस्पताल समूह के संस्थापक और चेयरमैन श्री देवी प्रसाद शेट्टी ने कहा कि तमाम चिकित्सा सुधारों के बावजूद विश्व स्वास्थ्य संगठन की रैंकिंग में भारत आज भी 112वें नम्बर पर है। राजस्थान सरकार के इस 'निरोगी राजस्थान अभियान' से लोगों को बेहतर स्वास्थ्य मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि अब समय डिजिटल हैल्थ केयर को अपनाने का है। 


इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर एण्ड बायलरी साइंसेज के निदेशक डॉ. एसके सरीन ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से 'निरोगी राजस्थान अभियान' के प्रभावी क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने आमजन के स्वास्थ्य की इतनी बड़ी जिम्मेदारी लेकर एक ऎतिहासिक कदम उठाया है। 


अपोलो हैल्थ केयर की संयुक्त प्रबंध निदेशक डॉ. संगीता रेड्डी ने कहा कि 'निरोगी राजस्थान अभियान' एक ऎसा अनूठा अभियान होगा जो राज्य के हर व्यक्ति की सेहत में सुधार लाएगा। उन्होंने कहा कि रोगों के उपचार के बजाय इस बात की आवश्यकता है कि रोग हो ही ना। 


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सभी के सहयोग से निरोगी राजस्थान जन आंदोलन का रूप लेगा। इससे पहले सवाई मानसिंह मेेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भण्डारी ने स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा एवं जांच योजना प्रदेश के लोगों के लिए वरदान है। इससे इस वर्ष करीब 9 करोड़ लोग लाभान्वित हुए हैं। 


इस अवसर पर मुख्यमंत्री सहित समारोह में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, चिकित्सकों एवं आमजन ने निरोगी रहने और लोगों को इसके लिए जागरूक करने की शपथ ली। 


समारोह में मुख्य सचिव श्री डीबी गुप्ता एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री रोहित कुमार सिंह भी उपस्थित थे।


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
CAA के खिलाफ साम्प्रदायिक दंगा मामले में 5वीं चार्जशीट दाखिल, मुस्लिम भीड़ ने व्यक्ति को जिंदा जलाया
Image