नागरिकता बिल: शिवसेना के राज्यसभा से वॉकआउट करने से कांग्रेस नारा

शिवसेना ने किया वॉकआउट, समिति के पास नहीं भेजा जाएगा नागरिकता संशोधन विधेयक



 

नई दिल्ली
शिवसेना ने बुधवार को नागरिकता संशोधन विधेयक पर राज्यसभा में वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया और वॉकआउट कर दिया। लोकसभा में सेना के सांसदों ने बिल के समर्थन में वोट दिया था। कांग्रेस हाइकमान महाराष्ट्र में अपनी सहयोगी शिवसेना के इस स्टैंड से खुश नहीं बताया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने उद्धव ठाकरे से बात की है और दो टूक कहा है कि नागरिकता बिल जैसे मुद्दों पर पार्टी का स्टैंड भविष्य में गठबंधन को नुकसान पहुंचा सकता है। बता दें कि लोकसभा में शिवसेना के स्टैंड पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इशारों-इशारों में नाराजगी जताई थी।
शिवसेना के स्टैंड से निराश है कांग्रेस

कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने लोकसभा में बिल के समर्थन में वोटिंग करने को लेकर शिवसेना से नाराजगी जाहिर की थी। तब कांग्रेस की ओर से स्पष्ट कहा गया कि शिवसेना का यह स्टैंड महाराष्ट्र में गठबंधन के लिए तय हुए कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के खिलाफ है। कांग्रेस ने शिवसेना से निराशा जाहिर करते हुए कहा था कि गठबंधन के पार्टनर जहां आपस में सहमत नहीं होंगे, वहां फैसला लेने से पहले एक-दूसरे से चर्चा जरूर करेंगे।
ठाकरे के बयान से भी कांग्रेस संतुष्ट नहीं
सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से सीधे तौर पर बिल का समर्थन लोकसभा में करने पर निराशा जताई थी। कांग्रेस की इस प्रतिक्रिया के बाद ही मंगलवार को उद्धव ने कहा था कि पार्टी के सांसदों ने स्पष्टता नहीं होने के कारण समर्थन में वोट किया। इसके बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि शिवसेना अपने स्टैंड में बदलाव करेगी। हालांकि, राज्यसभा से वॉकआउट का फैसला भी कांग्रेस की नाराजगी को कम नहीं कर सका है।

नागरिकता संशोधन विधेयक पर शिवसेना के रुख बदलने का क्या है कारण: अमित शाह

शिवसेना का राज्यसभा से वॉकआउट से कांग्रेस नाराज
कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल शिवसेना के राज्यसभा में बिल के विरोध में वोट नहीं करने से निराश हैं। लोकसभा में ही शिवसेना के बिल के समर्थन में वोट करने के कारण कांग्रेस पार्टी काफी नाराज है। लोकसभा से बिल पास होने के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'नागरिकता संशोधन विधेयक भारतीय संविधान को चोट पहुंचानेवाला है। जो भी इसका समर्थन कर रहे हैं वह हमारे देश की नींव को चोट पहुंचाने का काम कर रहे हैं।'

नागरिकता बिल का असर गठबंधन पर पड़ सकता है
सूत्रों का कहना है कि लोकसभा में बिल के समर्थन में वोट करने के ठीक बाद कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से बात की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नागरिकता बिल जैसे मुद्दों पर शिवसेना के स्टैंड पर निराशा जताते हुए कहा कि ऐसे कदम को स्वीकार नहीं किया जा सकता। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि शिवसेना अगर कैब जैसे मुद्दों पर ऐसे ही स्टैंड रखती है तो इसका असर महाराष्ट्र में गठबंधन पर भी पड़ेगा।



 


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image