राहुल गांधी ने कहा, सरकार को इंटरनेट-मेट्रो पर पाबंदी लगाकर आवाज दबाने का हक नहीं- जितना दबाएंगे उतनी तेज आवाज उठेगी: प्रियंका गांधी


नई दिल्ली
नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं। इसकी वजह से कई जगह इंटरनेट बंद है तो दिल्ली में गुरुवार को कई मेट्रो स्टेशन घंटों बंद रहे। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसको लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि सरकार को पाबंदियों के सहारे आवाज दबाने का अधिकार नहीं है और यह भारत की आत्मा का अपमान है। हालांकि, राहुल के इस ट्वीट पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौरान ने चुटकी ली है।


राहुल ने ट्वीट में लिखा, 'इस सरकार को कॉलेज, टेलिफोन, इंटरनेट बंद करने, मेट्रो ट्रेन रोकने और धारा 144 लगाकर भारत की आवाज व शांतिपूर्ण प्रदर्शन को रोकने का अधिकार नहीं है। ऐसा करना भारत की आत्मा का अपमान है।' 


शिवराज की चुटकी
दरअसल, राहुल गांधी इन दिनों दक्षिण कोरिया में हैं। उन्होंने जनता की आवाज दबाने को भारत की आत्मा (सोल) का अपमान बताया। शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी के ट्वीट पर चुटकी लेते हुए पूछा, 'भारत के 'सोल' को लेकर चिंतित हैं? खैर बताइए सियोल (दक्षिण कोरिया की राजधानी) कैसा है।'


सरकार लोगों की आवाज दबा रही है, देश में अघोषित आपातकाल: कांग्रेस
कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सरकार इंटरनेट सेवा बंद करने और निषेधाज्ञा लगाने जैसे दमनकारी कदमों से लोगों की आवाज दबाने का प्रयास कर रही है और देश में अघोषित आपातकाल है। कांग्रेस ने साथ ही कहा, लेकिन सरकार जितना आवाज दबाएगी, उतनी तेज आवाज उठेगी और देश में शांति तभी आएगी, जब इस सरकार को बताया जाएगा कि इनका देश से जाने का समय आ गया है।


जितना दबाएंगे उतनी तेज आवाज उठेगी: प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, 'मेट्रो स्टेशन बंद हैं। इंटरनेट बंद है। हर जगह # धारा 144 है। किसी भी जगह आवाज उठाने की इजाजत नहीं है।' उन्होंने कहा कि जिन्होंने आज करदाताओं का पैसा खर्च करके करोड़ों का विज्ञापन लोगों को समझाने के लिए निकाला है, वही लोग आज जनता की आवाज से इतना बौखलाएं हुए हैं कि सबकी आवाजें बंद कर रहे हैं। कांग्रेस नेता ने कहा, 'मगर इतना जान लीजिए कि जितना आवाज दबाएंगे, उतनी तेज आवाज उठेगी।'


आदमखोर दिख रहा बीजेपी का शासन: सिंघवी
कांग्रेस ने कहा कि विरोध प्रदर्शन करने के लोकतांत्रिक अधिकारों को दबाने के लिए बीजेपी को शर्म आनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, 'ये क्या है? ये बीजेपी काल नहीं, ये देश में अघोषित आपातकाल है, जिसको सामान्य स्थिति के नाम पर चलाया जा रहा है।' उन्होंने कहा कि इनकी (सरकार) वही परिभाषा है सामान्य स्थिति की जो कश्मीर में अपनाई गई, वही भारत के अन्य भागों में अपनाया जा रहा है। हर और हिंसा का माहौल दिखाई देता है। बीजेपी का शासन जैसे कोई आदमखोर दिखाई दे रहा है।'

मेट्रो, इंटरनेट, बोलने की आजादी और रोजगार बंद: सुरजेवाला

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सिंघवी ने कहा, 'इसलिए लगता है कि देश में शांति तभी आएगी, जब इस सरकार को बताया जाएगा कि इनका देश से जाने का समय आ गया है।' कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, 'मोदी सरकार ने संविधान पर हमला बोला, युवाओं पर हमला बोला, छात्रों पर हमला बोला। मेट्रो बंद है, इंटरनेट बंद है, बोलने की आजादी बंद है। रोजगार बंद है...मोदी है तो मुमकिन है।'


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
CAA के खिलाफ साम्प्रदायिक दंगा मामले में 5वीं चार्जशीट दाखिल, मुस्लिम भीड़ ने व्यक्ति को जिंदा जलाया
Image