उन्नाव: चश्मदीद ने बताया, 'जलने के बाद भी 1 किमी तक चली पीड़िता, खुद पुलिस को बुलाया


उन्नाव
उन्नाव जिले में एक रेप पीड़िता (20) को गुरुवार तड़के पांच लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की। चश्मदीदों के मुताबिक, बुरी तरह आग में लिपटी होने के बावजूद पीड़िता ने हिम्मत दिखाई और आसपास के लोगों से मदद मांगी। एक चश्मदीद के मुताबिक, पीड़िता अपने घर से करीब 1 किमी दूर तक चलकर गई। यह वारदात उन्नाव के बिहार थानाक्षेत्र स्थित सिंदुपुर गांव की है।


घटना के चश्मदीद और पीड़िता के पड़ोसी ने बताया, 'वह आग में पूरी तरह लिपटी हुई बाहर निकली, तो हम घबरा गए। हम पहचान नहीं पाए तो उसने अपना नाम बताया। हमने पुलिस को कॉल की, तो पीड़िता ने खुद पुलिस से बात की और मदद के लिए बुलाया। थोड़ी ही देर में पुलिस आ गई और वह उसे गाड़ी में बिठाकर ले गए।'


बता दें कि घटना के सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव की घटना का संज्ञान लेते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया है कि पीड़िता को सरकारी खर्च पर हरसंभव चिकित्सा सुविधा प्रदान की जाए। पीड़िता द्वारा थाना बिहार जनपद उन्नाव में दी गई तहरीर के मुताबिक, उसे गांव के ही शिवम त्रिवेदी ने बहला फुसलाकर अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और फरेब से रायबरेली ले जाकर बलात्कार किया और उसका मोबाइल में विडियो बना लिया।


पुलिस को दी गई तहरीर में पीड़िता ने आरोप लगाया कि विडियो वायरल करने की धमकी देकर शिवम लगातार बलात्कार करता रहा। गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार तड़के 4 बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। रास्ते में गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश ने उसे घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार कर आग लगा दी।