उन्नाव रेप पीड़िता 90 फीसदी तक जली, हालत बेहद नाजुक, दिल्ली ले जाया जा रहा


उन्नाव 
यूपी के उन्नाव में आग के हवाले की गई बलात्कार पीड़िता को लखनऊ के श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्पताल से दिल्‍ली ले जाया जा रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक, रेप पीड़‍िता 90 फीसदी तक जल गई है और उसकी हालत बहुत गंभीर है। पीड़‍िता को अब हवाई मार्ग से लखनऊ से दिल्‍ली ले जाया जा रहा है। सूत्रों से जानकारी मिली है कि पीड़िता को दिल्ली में किसी बड़े अस्पताल भेजा जा सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़िता का इलाज सरकारी खर्च पर कराए जाने और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का वादा किया है।


इससे पहले सिविल अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट (एमएस) डॉ. आशुतोष दुबे ने बताया था कि पीड़िता को नाजुक हालत में सुबह करीब सवा दस बजे अस्पताल लाया गया था। उसे तुरंत बर्न वॉर्ड में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों की एक टीम निरंतर उसकी निगरानी कर रही थी। उसकी हालत बहुत ही गंभीर है। अभी कुछ भी कहना मुश्किल है।


उन्होंने कहा कि प्लास्टिक सर्जन डॉ. प्रदीप तिवारी के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम बेहतर इलाज प्रबंधन में लगी थी। पहली नजर में पीड़िता को देखने से लगता है कि उसे किसी ज्वलनशील पदार्थ डालकर जलाया गया है, बाकी यह जांच का विषय है। उनसे पीड़िता के परिवार के अस्पताल में नजर न आने के बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। 


सभी 5 आरोपी गिरफ्तार
बता दें कि उन्नाव जिले में एक बलात्कार पीड़िता (20) को गुरुवार तड़के 5 लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की। पुलिस के अनुसार वारदात बिहार थानाक्षेत्र के सिंदुपुर गांव की है। इस मामले में सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उधर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव की घटना का संज्ञान लेते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया है कि पीड़िता को सरकारी खर्च पर हरसंभव चिकित्सा सुविधा प्रदान की जाए।


शादी का झांसा देकर किया रेप
पीड़िता द्वारा थाना बिहार जनपद उन्नाव में दी गई तहरीर के मुताबिक उसे गांव के ही शिवम त्रिवेदी ने बहला फुसलाकर अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और फरेब से रायबरेली ले जाकर बलात्कार किया और उसका मोबाइल में विडियो बना लिया। पीड़िता ने पुलिस को दिए तहरीर में बताया कि विडियो वायरल करने की धमकी देकर शिवम लगातार बलात्कार करता रहा। जब पीड़िता ने शादी करने का दबाव बनाया तो शिवम पीड़िता को रायबरेली ले आया।

पीड़िता का आरोप है कि उसे किराये के कमरे में रखा गया, लेकिन आरोपी उसे बाहर नहीं निकलने देता था। इस दौरान आरोपी शिवम ने पीड़िता को कई शहरों में ले जाकर रेप किया। पीड़िता शिवम से शादी के लिए कहती तो टालमटोल करता रहा और बाद में शादी से मना कर दिया। पीड़िता निराश होकर अपनी बुआ के यहां रायबरेली में रहने लगी।

ट्रेन पकड़ने जा रही थी पीड़िता
पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार तड़के 4 बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश ने उसे घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार किया। इस बीच वह चक्कर आने से गिरी तो आरोपियों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी। बता दें कि इस केस की जांच रायबरेली पुलिस ने की थी। इस केस में दोनों आरोपी जेल से जमानत पर बाहर आए थे।