CAA के समर्थकों और विरोधियों के बीच तनावपूर्ण हालात, पुलिस समझा रही लेकिन रोड से नहीं हट रहे प्रदर्शकारी


नई दिल्ली
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन और विरोध को लेकर दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में रविवार को हुई पथरबाजी के बाद हालात नियंत्रण में हैं। पुलिस के लाख समझाने पर भी सीएए के विरोधी और समर्थक रोड से हट नहीं रहे हैं। सीएए के विरोध में जाफराबाद में भारी संख्या में महिलाएं जुटीं तो इस कानून के समर्थन में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा की अगुवाई में मौजपुर चौराहे पर लोग जमा हो गए। वहीं मौजपुर के कबीर नगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधियों में भिड़ंत हो गई। दोनों ओर से जमकर पत्थर चले। पथराव के चलते पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। गलियों में भगदड़ जैसी स्थिति हो गई। इसके अलावा जाफराबाद में भी सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच पथराव हुआ। हालांकि अब स्थिति नियंत्रण में है।


पूर्वी रेंज के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा, 'हालात पूरी तरह नियंत्रण में है। लेकिन अभी भी रोड पर काफी लोग मौजूद हैं। हम लगातार स्थानीय नेताओं से बात कर रहे हैं ताकि इलाके में हालात सामान्य किया जा सके।'


मौजपुर में हालात को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं। पथरबाजी के बाद से पुलिस ने हालात को सामान्य करने की कोशिश में जुटी है। वहीं मौके पर मौजूद लोग जफराबाद में सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। 


सिग्नेचर ब्रिज बंद होने से पूर्वी दिल्ली में जाम
सीएए समर्थकों और विरोधियों के बीच बने तनाव के हालात के चलते सिग्‍नेचर ब्रिज को बंद करा दिया गया है। इस वजह से पूर्वी दिल्ली में जाम के हालात बन गए हैं। पत्‍थरबाजी के बाद यमुना विहार रोड, वजीराबाद मुख्‍य रोड, बाबरपुर और मौजपुरा की मुख्य रोड पर आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गया है, जिसके चलते यहां जाम के हालात बन गए हैं।

पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले
बताया जा रहा है कि कबीरनगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधी एक-दूसरे पर पत्थरबाजी करने लगे, जिसके चलते यहां की गलियों में भगदड़ मची हुई है। इस पथराव में एक शख्स घायल हुआ है, जिसे पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस दोनों पक्षों से हो रही पत्थरबाजी को रोकने की हर संभव कोशिश में जुटी है। लोगों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे हैं।


इलाके में फ्लैग मार्च कर रही पुलिस
फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। जॉइंट पुलिस कमिश्नर (ईस्टर्न रेंज) आलोक कुमार ने बताया, 'पुलिस पर भी पत्थरबाजी हुई, हालात अब नियंत्रण में है। पर्याप्त पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है और फ्लैग मार्च किया जा रहा है।'


बता दें कि मौजपुर में जहां बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के समर्थक जमा हैं वहां से महज आधा किलोमीटर दूर जाफराबाद में सीएए के विरोधी जमा हैं।


दो मेट्रो स्टेशन बंद
सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच जारी टकराव के चलते दिल्ली मेट्रो (DMRC) ने मौजपुर ओर बाबरपुर मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है।


कपिल मिश्रा ने समर्थकों के साथ मौजपुर चौराहे को ब्लॉक किया
बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा है कि जाफराबाद प्रदर्शन के विरोध में और CAA के समर्थन में वह रोड पर उतरे हैं। उन्होंने कहा कि हम दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।

कपिल मिश्रा ने विडियो ट्वीट कर कहा है, 'मौजपुर चौक पर जाफराबाद के सामने, कद बढ़ा नहीं करते एड़ियां उठाने से, CAA वापस नहीं होगा, सड़कों पर बीबियां बिठाने से।' एक अन्य ट्वीट में कपिल मिश्रा ने कहा, 'दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।' इससे पहले कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर लोगों से सीएए के समर्थन में रोड पर उतरने की अपील की। बताया जा रहा है कि सीएए के विरोध और समर्थन में प्रदर्शन के चलते पूरा मौजपुर चौराहा ब्लॉक हो गया है।



LIVE : CAA के समर्थकों और विरोधियों के बीच तनावपूर्ण हालात, पुलिस समझा रही लेकिन रोड से नहीं हट रहे प्रदर्शकारी


 

सीएए के विरोध में जाफराबाद में भारी संख्या में महिलाएं जुटीं तो इस कानून के समर्थन में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा की अगुवाई में मौजपुर चौराहे पर लोग जमा हो गए। वहीं कबीर नगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधियों के बीच पथराव हुए हैं। पथराव के चलते पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया है।


Published By Abhishek Kumar | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:


facebooktwitteremail




NBT

हाइलाइट्स

  • सीएए को लेकर दिल्ली में टकराव के बने हालात

  • सीएए के समर्थक और विरोधी आए आमने-सामने

  • जाफराबाद और मौजपुर में सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच पथरबाजी

  • लोगों को हटाने के लिए पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले



 

नई दिल्ली
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन और विरोध को लेकर दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में रविवार को हुई पथरबाजी के बाद हालात नियंत्रण में हैं। पुलिस के लाख समझाने पर भी सीएए के विरोधी और समर्थक रोड से हट नहीं रहे हैं। सीएए के विरोध में जाफराबाद में भारी संख्या में महिलाएं जुटीं तो इस कानून के समर्थन में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा की अगुवाई में मौजपुर चौराहे पर लोग जमा हो गए। वहीं मौजपुर के कबीर नगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधियों में भिड़ंत हो गई। दोनों ओर से जमकर पत्थर चले। पथराव के चलते पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। गलियों में भगदड़ जैसी स्थिति हो गई। इसके अलावा जाफराबाद में भी सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच पथराव हुआ। हालांकि अब स्थिति नियंत्रण में है।



टॉप कॉमेंट

अब तो CAA संसद से कानून बन ही गया है - अब कुछ विरोध करने से कुछ नही होने वाला

Aastha Tayal




पूर्वी रेंज के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा, 'हालात पूरी तरह नियंत्रण में है। लेकिन अभी भी रोड पर काफी लोग मौजूद हैं। हम लगातार स्थानीय नेताओं से बात कर रहे हैं ताकि इलाके में हालात सामान्य किया जा सके।'

मौजपुर में हालात को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं। पथरबाजी के बाद से पुलिस ने हालात को सामान्य करने की कोशिश में जुटी है। वहीं मौके पर मौजूद लोग जफराबाद में सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

 


सिग्नेचर ब्रिज बंद होने से पूर्वी दिल्ली में जाम
सीएए समर्थकों और विरोधियों के बीच बने तनाव के हालात के चलते सिग्‍नेचर ब्रिज को बंद करा दिया गया है। इस वजह से पूर्वी दिल्ली में जाम के हालात बन गए हैं। पत्‍थरबाजी के बाद यमुना विहार रोड, वजीराबाद मुख्‍य रोड, बाबरपुर और मौजपुरा की मुख्य रोड पर आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गया है, जिसके चलते यहां जाम के हालात बन गए हैं।

पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले
बताया जा रहा है कि कबीरनगर मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के समर्थक और विरोधी एक-दूसरे पर पत्थरबाजी करने लगे, जिसके चलते यहां की गलियों में भगदड़ मची हुई है। इस पथराव में एक शख्स घायल हुआ है, जिसे पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस दोनों पक्षों से हो रही पत्थरबाजी को रोकने की हर संभव कोशिश में जुटी है। लोगों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे हैं।


दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में CAA पर बवाल, समर्थकों-विरोधियों के बीच पथराव
 

 

दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में CAA पर बवाल, समर्थकों-विरोधियों के बीच पथरावदिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में CAA के चलते बवाल के बाद समर्थकों-विरोधियों के बीच पथराव की खबरें सामने आईं हैं। मौजपुर के कबीर नगर मेट्रो स्टेशन के पास ये घटना हुई। पथराव के चलते पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया है। इसके अलावा जाफराबाद में भी सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच पथराव हुआ है।


इलाके में फ्लैग मार्च कर रही पुलिस
फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। जॉइंट पुलिस कमिश्नर (ईस्टर्न रेंज) आलोक कुमार ने बताया, 'पुलिस पर भी पत्थरबाजी हुई, हालात अब नियंत्रण में है। पर्याप्त पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है और फ्लैग मार्च किया जा रहा है।'


 


बता दें कि मौजपुर में जहां बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के समर्थक जमा हैं वहां से महज आधा किलोमीटर दूर जाफराबाद में सीएए के विरोधी जमा हैं।


 

दो मेट्रो स्टेशन बंद
सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच जारी टकराव के चलते दिल्ली मेट्रो (DMRC) ने मौजपुर ओर बाबरपुर मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है।


 

कपिल मिश्रा ने समर्थकों के साथ मौजपुर चौराहे को ब्लॉक किया
बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा है कि जाफराबाद प्रदर्शन के विरोध में और CAA के समर्थन में वह रोड पर उतरे हैं। उन्होंने कहा कि हम दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।

कपिल मिश्रा ने विडियो ट्वीट कर कहा है, 'मौजपुर चौक पर जाफराबाद के सामने, कद बढ़ा नहीं करते एड़ियां उठाने से, CAA वापस नहीं होगा, सड़कों पर बीबियां बिठाने से।' एक अन्य ट्वीट में कपिल मिश्रा ने कहा, 'दिल्ली में दूसरा शाहीन बाग नहीं बनने देंगे।' इससे पहले कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर लोगों से सीएए के समर्थन में रोड पर उतरने की अपील की। बताया जा रहा है कि सीएए के विरोध और समर्थन में प्रदर्शन के चलते पूरा मौजपुर चौराहा ब्लॉक हो गया है।

 


शाहीन बाग के प्रदर्शन के विरोध में सरिता विहार में प्रदर्शन
दिल्ली के शाहीन बाग में 71 दिनों से सीएए के विरोध में जमा लोगों के खिलाफ रविवार को लोग दक्षिण-पूर्व दिल्ली के सरिता विहार और जसोला इलाके के निवासी हाथों में बैनर लिए शाहीनबाग में सड़क पर बैठ गए। बैनर में लिखा था, 'महिलाओं और अबोध बच्चों को ढाल बनाकर अन्य महिलाओं व बच्चों को परेशान करने की साजिश बंद करें।'

शनिवार देर रात करीबन 200 से 300 महिलाओं ने आकर मेट्रो के नीचे प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था, जिसके बाद वहां बड़ी संख्या में पुलिस के जवान और अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया। महिला प्रदर्शनकारियों को देखते हुए महिला जवानों को भी तैनात किया गया है। अभी फिलहाल जिस रास्ते पर प्रदर्शनकारी बैठे हैं, वहां एक तरफ रोड खुली हुई है जिसकी वजह से जाम भी लग रहा है।

विरोध कर रही महिलाओं के हाथों है तिरंगा
प्रदर्शनकारी महिलाओं ने रोड नंबर 66 जाम कर रखा है, जिस सड़क पर महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं, वह सड़क सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ती है। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने बताया कि शाहीन बाग की तरह वे भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन करेंगी। सभी महिलाओं ने हाथ में तिरंगा लिया हुआ है और आजादी के नारे भी लगा रही हैं।

साथ ही प्रदर्शन में शामिल कई महिलाओं ने अपनी बांह पर नीला बैंड लगा रखा है और जय भीम का नारा लगा रही है। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने प्रमोशन में आरक्षण को लेकर आज 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है, जिसका असर भी देश में देखने को मिल रहा है और प्रदर्शनकरियों का ये भी कहना है कि भारत बंद को देखते हुए भी हमने ये सड़क बंद किया है।

जाफराबाद प्रदर्शन को बीजेपी ने सुनियोजित बताया
बीजेपी नेता विजय गोयल ने जाफराबाद में हो रहे प्रदर्शन के मामले पर कहा, ‘यह नियोजित तरीके से हो रहा है, विपक्षी दल इसके पीछे हैं जो मोदी जी को हरा नहीं पाए। कानून संसद में पास किया गया है उसके बाद इस तरीके से करना गलत है और अभी इसको फैलाया जा रहा है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘पुलिस चाहती तो कोई भी एक्शन ले सकती थी, लेकिन बच्चे-महिलाएं हैं, इस वजह से हम नहीं चाहते की किसी तरीके की हिंसा हो।’ विजय गोयल ने दिल्ली सरकार को घेरते हुए कहा, ‘केजरीवाल को बस राजनीति करनी है।’



Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image