CAA पर फिर से तमतमाए असदुद्दीन ओवैसी, लोकसभा में खुद को बताया 'घुसपैठियों का बाप'


नई दिल्ली
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को लोकसभा में एक बार फिर से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) की खामियां गिनाईं। ओवैसी ने कहा, 'सीएए नागरिकता देता भी है और लेता भी है। असम में पांच लाख मुसलमानों के नाम नहीं आए, लेकिन असम के बंगाली हिंदुओं को नागरिकता देना चाहते हैं। मैं घुसपैठी नहीं घुसपैठियों का बाप हूं। एनपीआर एनआरसी एक ही है।'
जामिया के छात्रों को ओवैसी का समर्थन
इससे पहले सोमवार को भी ओवैसी ने लोकसभा में सीएए का विरोध करने वालों पर हुई कार्रवाई के मुद्दे को उठाया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि सीएए का विरोध करते हुए जामिया मिलिया इस्लामिया के जिन बच्चों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, वे उनके साथ खडे हैं।


मालूम हो कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में जामिया के छात्र पिछले करीब एक महीने से विरोध कर रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने CAA के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसा, आगजनी और तोड़फोड़ के मामले में पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं और इनमें कोई भी छात्र नहीं है।

गिरिराज सिंह ने ओवैसी को बताया जहर घोलने वाला
उधर, बीजेपी सांसद और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने असदुद्दीन ओवैसी पर आरोप लगाया है कि वह जामिया मिल्लिया इस्लामिया और एएमयू जैसे शिक्षण संस्थानों में देश के खिलाफ 'जहर घोल' रहे हैं। साथ ही कहा कि पाकिस्तान का गठन ऐसे ही लोगों के लिए किया गया है। सिंह ने ट्वीट किया है, 'ओवैसी जैसे चरमपंथी जामिया और एएमयू जैसे संस्थानों में देश के खिलाफ जहर घोल कर देशद्राहियों की सेना तैयार कर रहे हैं। ओवैसी और उनके जैसे अन्य संविधान विरोधियों को रोकना होगा। भारतीय अब जाग उठे हैं। हमं दबाएं और तोड़े नहीं। पाकिस्तान आपके लिए बनाया गया था। हमें शांति से जीने दें।'

केन्द्रीय मंत्री ने ओवैसी का एक वीडियो टैग किया है, जिसमें वह लोकसभा में बोल रहे हैं और प्रदर्शन कर रहे जामिया के छात्रों को अपना समर्थन दे रहे हैं। साथ ही, वह सरकार पर अत्याचार करने का आरोप लगा रहे हैं। सीएए विरोधी प्रदर्शनों और उत्तर प्रदेश पुलिस का संदर्भ देते हुए ओवैसी बोल रहे हैं, 'एक बच्चे की आंख चली गई। बेटियों को पीटा जा रहा है। बच्चों पर गोलियां चल रही हैं।'