दिल्ली हिंसा में तबाही मचाने के लिए दंगाइयों ने इस्तेमाल किए थे ये 8 हथियार




दिल्ली हिंसा में तबाही मचाने के लिए दंगाइयों ने इस्तेमाल किए थे ये 8 हथियारदिल्ली हिंसा में दंगाइयों ने तरह-तरह के हथियार इस्तेमाल किए। वो हथियार भी, जिनके बारे में आप जानते हैं और वो भी, जिनके बारे में शायद ही आपने कभी सुना होगा। ऐसा ही एक हथियार है बड़ी गुलेल, जो दंगाइयों का सबसे बड़ा और अहम हथियार था। एक ऐसी गुलेल है, जिसे यहां से वहां ले जाया जा सकता है, तो एक दूसरी ऐसी बड़ी गुलेल है, जिसे छतों पर फंसाया गया था। बता दें कि ताहिर हुसैन की छत पर से भी ऐसे ही गुलेल का इस्तेमाल किए जाने का दावा किया जा रहा है। इस गुलेल की तस्वीरें ट्विटर पर भी खूब शेयर हो रही हैं। इसके अलावा भी दंगाइयों ने कई तरह के हथियार इस्तेमाल किए। बता दें कि अब तक हिंसा में मारे जाने वालों की संख्या 39 हो चुकी है और 200 से भी अधिक लोग घायल हैं। मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। कहीं नालों से शव बरामद हो रहे हैं, तो कहीं जले हुए घर और गाड़ियों से लाशें मिल रही हैं। इतनी तबाही मचाने के लिए दंगाइयों ने एक नहीं, बल्कि कई तरह के हथियारों का इस्तेमाल किया। आइए सबके बारे में जानते हैं।


1- दूर तक मार करने वाली बड़ी मोबाइल गुलेल


NBT

दिल्ली के शिव विहार इलाके में मिली ये गुलेल एक रिक्शे पर लोहे के एंगल को वेल्डिंग कर के बनाई गई थी। जिस तरह छोटी गुलेल से मामूली गिट्टियां चलाई जाती हैं, ठीक वैसे ही इस बड़ी गुलेल से पेट्रोल बम की बोतलें, बड़े-बड़े पत्थर या और भी चीजें फेंकी जा सकती हैं। यानी किसी भारी चीज को दूर तक फेंकने के लिए ये गुलेल बनाई गई, वो भी रिक्शे के ऊपर। यानी मोबाइल गुलेल, जिसे जहां चाहे, वहां ले जाया जा सके और घटना को अंजाम दिया जा सके।




2- सटीक निशाने के लिए छोटी गुलेल


NBT

ऐसा नहीं है कि दंगाइयों के पास सिर्फ बड़ी गुलेल ही थी, उनकी पास छोटी गुलेल भी थी। ये छोटी गुलेल किसी पर सटीक निशाना लगाकर उस पर जानलेवा हमला करने के लिए इस्तेमाल की गई होंगी। इनके हथियार साफ होता है कि दंगाई पूरी तैयारी से आए थे।




3- पेट्रोल बम


NBT

ताहिर हुसैन की बिल्डिंग की छत से जो चीजें बरामद हुई हैं, वो भी दिखाती हैं कि इन दंगाइयों के पास कैसे-कैसे हथियार थे। दंगाइयों के पास पेट्रोल बम भी थे, जिसे उन्होंने कोल्ड ड्रिंक की बोतलों में पेट्रोल भर कर बनाया था।




4- एसिड के पाउच


NBT

किसी के ऊपर एसिड गिर जाए, ये बात तो सोचकर भी रूह कांप जाती है। दिल्ली हिंसा के दंगाइयों ने एसिड को भी अपने हथियार की तरह इस्तेमाल किया। ताहिर हुसैन की बिल्डिंग की छत पर भी एसिड के पाउच मिले हैं।


5- पिस्तौल और तमंचे


NBT

दिल्ली हिंसा में शाहरुख को पिस्तौल लहराते तो सभी ने देखा था। उसने पुलिस और भीड़ पर 8 राउंड गोलियां भी चलाई थीं। जहां-जहां हिंसा हुई, वहां खूब गोलियां चलीं। यहां तक कि हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत भी गोली लगने की वजह से ही हुई। यानी दंगाई अपने साथ पिस्तौल या तमंचे लिए हुए थे।




6- ईंट-पत्थर


NBT

ये वो हथियार है जो हर जगह हिंसा करने वाली भीड़ के हाथ में होता है। इस सबसे आसानी से मिलने वाले हथियार को भी दंगाइयों ने खूब इस्तेमाल किया। दंगाई तो बोरियों में ईंट-पत्थर भरकर अपने साथ लाए थे। दंगा करने वालों ने ईंट-पत्थर का कितना इस्तेमाल किया, इसका अंदाजा तो आपको हिंसा प्रभावित इलाकों की सड़कें देखकर ही लग जाएगा, जो ईंटों से पटी पड़ी हैं।




7- रॉड और डंडे


NBT

हिंसा के पीड़ितों ने ये बात कही है कि दंगाइयों के पास लोहे की रॉड भी थीं, जिनसे वह लोगों को पीट रहे थे।




8- चाकू और धारदार हथियार


NBT

दंगाइयों के हाथों में चाकू और अन्य धारदार हथियार भी थे। कई कत्ल बेरहमी से किए गए हैं।




Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image