हाईटेक बस तैयार, अति पिछड़ा शिकार', तेजस्वी यादव की बेरोजगारी हटाओ यात्रा पर तंज


पटना
बिहार में 5 साल बाद सबसे बड़े सियासी समर की स्क्रिप्ट लिखी जा रही है। इस राजनीतिक घमासान में सबसे बड़ा हथियार बना है पोस्टर। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव पटना में बेरोजगारी हटाओ यात्रा का काफिला तैयार कर रहे हैं। इस यात्रा से ठीक पहले पोस्टर के जरिए आरजेडी और लालू फैमिली पर तंज कसा गया है।


पटना की सड़कों पर आरजेडी की बेरोजगारी हटाओ यात्रा को निशाना बनाते हुए पोस्टर लगाए गए हैं। इस पोस्टर में लालू यादव बस की ड्राइविंग सीट पर बैठे हुए हैं, जबकि उनके छोटे बेटे और पूर्व डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव को हाथ हिलाते दिखाया गया है। बस पर आर्थिक उगाही यात्रा लिखा है और पोस्टर के सबसे ऊपर लिखा गया है, 'हाईटेक बस तैयार हुआ, अति पिछड़ा शिकार हुआ।' बता दें कि बिहार वेटनरी कॉलेज ग्राउंड से तेजस्वी बेरोजगारी यात्रा निकालने जा रहे हैं। 


अति पिछड़ी जातियों के पास सत्ता की चाबी!
माना जा रहा है कि जेडीयू समर्थकों की तरफ से ये पोस्टर चस्पा किए गए हैं। पोस्टर में अति पिछड़ा को शिकार बताते हुए आरजेडी पर हमला बोला गया है। बिहार में इस इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य में अति पिछड़ी जातियों को किंगमेकर के रूप में देखा जाता है। एक अनुमान है कि बिहार में अति पिछड़ी जातियों की तादाद कुल वोटर्स का 25 फीसदी है। इनमें लुहार, बढ़ई, कुम्हार, सुनार, केवट और कहार जैसी जातियां शामिल हैं।

आम तौर पर बिहार में यादव समुदाय का एक बड़ा हिस्सा लालू यादव का समर्थक माना जाता है और चुनाव में खुलकर आरजेडी के लिए वोट करता है। वहीं कुर्मी समुदाय का ज्यादातर वोट मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति समर्पित माना जाता है। नीतीश इसी जाति से आते हैं। 2010 के विधानसभा चुनाव में अति पिछड़ी जातियों के वोटिंग पैटर्न में बदलाव देखा गया था। इस वर्ग के वोटों की बदौलत जेडीयू-बीजेपी ने 206 सीटों (115 जेडीयू और 91 बीजेपी) का बंपर बहुमत हासिल किया था। हालांकि 2015 में महागठबंधन (जेडीयू, आरजेडी, कांग्रेस) बनने से इस वोट का बड़ा हिस्सा शिफ्ट हो गया था और बीजेपी की अगुआई वाले एनडीए को करारी शिकस्त मिली थी।
जेडीयू और आरजेडी के बीच पोस्टर वॉर

सत्ताधारी जेडीयू-बीजेपी और आरजेडी के बीच लगातार पोस्टर वॉर चल रहा है। पटना की सड़कों पर अकसर लालू और नीतीश के शासन पर निशाना साधने वाले पोस्टर देखे जा रहे हैं। दोनों पार्टियां पोस्टर्स की सहायता से वोटों को अपने खेमे में करने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही हैं। पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ आरजेडी समर्थकों ने कानून व्यवस्था को लेकर 'लहूलुहान हुआ बिहार, शिकारी है सरकार' पोस्टर लगवाए। इसके जवाब में जेडीयू समर्थकों ने लालू यादव का 'ठग्स ऑफ बिहार' नाम से पोस्टर जारी किया था।


Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image