पहले खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का शुभारंभ: पीएम मोदी बोले- खेलों के लिए क्रांति की शुरुआत


भुवनेश्वर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार आयोजित हो रहे ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स’ का शुभारंभ शनिवार शाम को विडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए किया। 22 फरवरी से लेकर एक मार्च तक चलने वाले इस महाकुंभ की शुरुआत करते हुए पीएम ने कहा, 'मैं आपके साथ टेक्नॉलॉजी के माध्यम से जुड़ रहा हूं, लेकिन वहां जो माहौल है, जो उत्साह है, जो जुनून है, जो ऊर्जा है, उसको मैं अनुभव कर सकता हूं। आज ओडिशा में नया इतिहास बना है। भारत के इतिहास में पहले खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की शुरुआत आज से हो रही है।' बता दें कि देश भर के 150 से भी अधिक विश्‍वविद्यालयों के लगभग 3500 ऐथलीट इस आयोजन में भाग लेंगे।


बड़े टूर्नमेंटों में 200 से अधिक मेडल जीतने का लक्ष्य



आने वाले सालों में खेलों में मेडल जीतने के लक्ष्य का उल्लेख करते हुए पीएम बोले, 'भारत उन देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है, जिन देशों में खेलों की लीग होती है। भारत के 3 हजार से अधिक युवा खिलाड़ियों को बहुत बहुत बधाई। साथियों आने वाले सालों में कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स, एशियन पैरा गेम्स और यूथ गेम्स में 200 से अधिक मेडल जीतने का लक्ष्य तो है ही, उससे भी अहम आपके अपने प्रदर्शन में सुधार, आपके खुद के सामर्थ्य को नई ऊंचाई देना है। याद रखिए भुवनेश्वर में किया गया आपका प्रदर्शन आपके सपनों को, देश को सपनों को और आपके परिवार के सपनों को आगे बढ़ाएगा। भुवनेश्वर में आप एक दूसरे से तो कंपीट कर ही रहे हैं, खुद से भी कंपीट कर रहे हैं।


देश में दोगुनी हुई ऐथलीटों की संख्या
इस दौरान पीएम ने भारत की स्टार ऐथलीट दुती चंद का उदाहरण भी दिया। उन्होंने कहा, 'आज का दिन सिर्फ टूर्नमेंट की शुरुआत मात्र नहीं है, बल्कि खेलो इंडिया की शुरुआत खेलों के लिए क्रांति है। यह राष्ट्रव्यापी अभियान है। इसे यूनिवर्सिटी लेवल के लिए शुरू किया गया है। गुवाहाटी में क्या बदलाव आया है यह हाल के दिनों में देखने को मिला है। देश में महज 3 वर्षों में ऐथलीटों की संख्या 3 हजार से बढ़कर 6 हजार से भी अधिक हो गई है। यानी संख्या सीधे दोगुनी हो गई है। खेल और उसकी सुविधाओं में भी गजब का सुधार आया है।'

टूटे 80 रेकॉर्ड, 56 बेटियों के नाम
उन्होंने खेलो इंडिया के दौरान टूटे रेकॉर्डों की बात करते हुए कहा- रोचक बात है कि इस खेल के दौरान कुल 80 रेकॉर्ड टूटे हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि 80 में से 56 रेकॉर्ड बेटियों के नाम रहे हैं। यह भी महत्वपूर्ण बात है कि सामान्य घर से निकलकर सामने आने वालों ने ये कारनामे किए हैं। उन्हें ऐक्सपोजर का मौका मिला है। पहले ऐसा नहीं था। अब युवाओं को न केवल मौके मिले हैं, बल्कि उन्हें एक बड़ा मंच भी मिला है।


खेलो इंडिया का इंटरनैशनल लेवल पर दिखा असर
उन्होंने खेलों इंडिया से फायदे को बताते हुए कहा- खेलो इंडिया अभियान तो युवा टैलेंट को पहचानने का जरिया बना है। स्पोर्ट्स के प्रमोशन टैलेंट की पहचान हो या टेनिंग हो या फिर चयनप्रक्रिया हो। हर तरफ ट्रांसपरेंसी को बढ़ावा दिया गया है। इसका असर इंटरनैशनल लेवल पर भी देखने को मिला है। भारत के तमाम युवाओं ने भारत के लिए मेडल जीते हैं। पीएम मोदी ने कहा, 'खिलाड़ी अपना ध्यान सिर्फ अपने श्रेष्ठ प्रदर्शन पर लगाए, बाकी की चिंता देश कर रहा है। प्रयास ये है कि पढ़ाई के साथ-साथ खेल भी बढ़े। हमारे युवा, हमारे खिलाड़ी हर प्रकार के करियर के लिए फिट रहें, इसके लिए राष्ट्रीय खेल यूनिवर्सिटी जैसे संस्थान बनाए जा रहे हैं।'

टूर्नमेंट के बारे में...
‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स’ का आयोजन ओडिशा सरकार के सहयोग से केंद्र द्वारा किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में तीरंदाजी, ऐथलेटिक्स, मुक्केबाजी, तलवारबाजी, जूडो, तैराकी, भारोत्तोलन, कुश्ती, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, फुटबॉल, हॉकी, टेबल टेनिस, टेनिस, वॉलीबॉल, रग्बी और कबड्डी सहित कुल 17 खेलों का आयोजन होगा। इस टूर्नमेंट का लक्ष्य भारत को खेलों की दुनिया में अहम स्थान दिलाना है।

ये स्टार खिलाड़ी भी ले रहे हिस्सा
इस अवसर पर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केंद्रीय खेल मंत्री कीरण रिजिजू और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान भी उपस्थित थे। स्टार फर्राटा धाविका दुती चंद भी इन खेलों का हिस्सा हैं। वह मेजबान केआईआईटी विश्वविदद्यालय का प्रतिनिधित्व करेंगी। दुती के अलावा जो अन्य प्रतिभाशाली खिलाड़ी इसमें भाग लेंगे उनमें मेंगलुरु विश्वविद्यालय के त्रिकूद के ऐथलीट जय शाह, उनके साथी लंबी दौड़ के धाविक नरेंद्र प्रताप सिंह, पुणे विश्वविद्यालय की लंबी दूरी की धाविका कोमल जगदाले और आचार्य नागार्जुन विश्वविद्यालय की धाविका वाई ज्योति भी शामिल हैं।


Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image