पुलिस थाने के पीछे सरकारी क्वार्टर में 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हेडकांस्टेबल गिरफ्तार


कोटा. ग्रामीण जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने सोमवार को एक पुलिस हेडकांस्टेबल को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम बजरी की गाड़ियों के परिवहन की एवज में मांगी जा रही थी। यह कार्रवाई झालावाड़ एसीबी के एडिशनल एसपी भवानी शंकर मीणा के निर्देशन में चेचट थाने में की गई। जहां आरोपी हेडकांस्टेबल अजीत सिंह (42) निवासी नीमराणा, अलवर को घूस लेते पकड़ा। वह कोटा ग्रामीण जिले के चेचट थाना के अंतर्गत अलोद पुलिस चौकी का प्रभारी है।


यह है पूरा मामला


एएसपी भवानी शंकर मीणा ने बताया कि घूसखोर आरोपी अजीत सिंह के खिलाफ गांव अलोद, थाना चेचट निवासी ब्रजमोहन अहीर ने 17 फरवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उसके ट्रेक्टर से चारभुजा नाथ के मंदिर निर्माण समिति के स्टॉक रीछी बस स्टैंड से मंदिर निर्माण स्थल तक बजरी पहुंचाने की एवज में हेडकांस्टेबल अजीत सिंह मासिक बंधी के रुप में 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है।


रिश्वत की रकम लेकर सरकारी क्वार्टर पर बुलाया, वहीं पकड़ा गया


वहीं, मासिक बंधी देने से इंकार करने पर अवैध बजरी परिवहन का मुकदमा दर्ज करवाने और गिरफ्तार कर जेल भेजने की धमकियां दे रहा है। तब एसीबी ने शिकायत दर्ज कर 21 फरवरी को सत्यापन किया। इसके बाद सोमवार को ट्रेप रचा। जिसमें हेडकांस्टेबल अजीत सिंह ने परिवादी ब्रजमोहन को रिश्वत की रकम लेकर चेचट थाना परिसर में बने अपने सरकारी क्वार्टर बुलाया। जहां रिश्वत लेते ही एसीबी टीम ने आरोपी अजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पेंट की जेब से रिश्वत की रकम बरामद कर ली। 


Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image