सुप्रीम कोर्ट में वजाहत हबीबुल्लाह की रिपोर्ट, शाहीन बाग में शांतिपूर्ण प्रदर्शन, पुलिस ने रोके रास्ते


नई दिल्ली
शाहीन बाग में रास्ता खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त किए गए वार्ताकार वजाहत हबीबुल्लाह ने अपनी रिपोर्ट सर्वोच्च अदालत में पेश कर दी है। उन्होंने कहा है कि संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहा प्रदर्शन शांतिपूर्ण है। उन्होंने यह भी कहा है कि वहां 5 रास्ते पुलिस ने बंद किए हैं।


सुप्रीम कोर्ट की ओर से शाहीन बाग में रास्ता खुलवाने के लिए भेजे गए तीन वार्ताकारों में से एक हबीबुल्लाह ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दो सदस्यीय बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी। वजाहत के अलावा इस मामले में संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ताकार बनाया गया है। 


वार्ताकारों ने शाहीन बाग जाकर प्रदर्शनकारियों से बात की, लेकिन रास्ता नहीं खुलवाया जा सका है। प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकार के सामने सात मांगें रखते हुए कहा कि जब तक सीएए वापस नहीं लिया जाता, तब तक रास्ते को खाली नहीं किया जाएगा। शाहीन बाग में 2 महीने से अधिक समय से संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है। इस वजह से नोएडा और दिल्ली के बीच सफर करने वाले लाखों लोगों को काफी परेशानी हो रही है। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर चिंता जाहिर की थी।

एक सड़क खुली

70 दिन से धरनास्थल बने शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों ने शाम को कालिंदी कुंज 9 नंबर की सड़क खोल दी। इस रोड के खुलने से बटला हाउस, जैतपुर, जामिया नगर और होली फैमिली अस्पताल से फरीदाबाद जाने वालों को फायदा होगा। कालिंदी कुंज रोड से होकर वाया पुश्ता रोड फरीदाबाद आसानी से पहुंच सकेंगे, लेकिन फरीदाबाद से दिल्ली आने वालों की मुश्किलें जस की तस हैं।


Popular posts
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ताजमहल का किया दीदार, विजिटर बुक में लिखा संदेश
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
अब मान भी जाइए, ऐसे उमड़ेगी भीड़ तो कैसे रुकेगा कोरोना का संक्रमण
Image
राजस्थान-विधानसभा में मंत्री कल्ला ने भगवान विष्णु के दशावतार गिनाए, कहा- हर अवतार के दिवस पर छुट्टी करना संभव नहीं
Image