डॉक्टर का दावा, 'कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज मुमकिन, दवा बनाने पर काम जारी'


बेंगलुरु
कोरोना वायरस ने देशभर में आम लोगों और सरकारों की चिंता बढ़ा रखी है। रोज लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए इसके इलाज पर भी शोध जारी हैं। इस बीच बेंगलुरु के एक डॉक्टर ने कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए दवा पर रिसर्च करने का दावा किया है।


बेंगलुरु के ऑन्कोलॉजिस्ट विशाल राव ने कहा कि हम अभी इसकी शुरुआती स्टेज हैं और इस हफ्ते के अंत तक कुछ ठोस परिणाम मिल सकते हैं। उन्होंने बताया कि इसके रिव्यू के लिए हमने सरकार के पास भी आवेदन किया है।


डॉक्टर विशाल राव ने बताया, 'इंसानी शरीर की कोशिकाओं में वायरस से लड़ने की क्षमता होती है। कोशिकाओं में इंटरफेरॉन होते हैं जो वायरस से लड़ने में सहायक होते हैं। हालांकि जब मरीज कोविड-19 से संक्रमित होता है तो उसकी कोशिकाओं से ये इंटरफेरॉन नहीं निकल पाते, जिससे उसका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है और वायरस का असर बढ़ता चला जाता है।' 


कोरोना की वैक्सीन नहीं, सिर्फ मरीजों का इलाज मुमकिन
उन्होंने आगे बताया, 'हमारे शोध में हमने पाया है कि ये इंटरफेरॉन कोविड-19 से लड़ने में भी मददगार हैं। इसके लिए हमने साइटोकाइन्स का एक मिश्रण तैयार किया है जिसे कोविड-19 के मरीज के इलाज के लिए उसके शरीर में इंजेक्ट किया जा सकता है।' उन्होंने कहा कि यह कोई वैक्सीन नहीं है और इससे कोविड-19 से संक्रमित होने से बचा नहीं जा सकता। इसका प्रयोग सिर्फ कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के इलाज में किया जा सकता है।

देशभर में कोरोना वायरस के 724 मामले

पिछले 24 घंटे के दौरान भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के 75 नए मामले सामने आए हैं और 4 लोगों की जान गई है। अब तक देश में कोरोना संक्रमण के कुल 724 मामले हुए हैं, जबकि 17 लोगों की मौत हुई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शुक्रवार शाम को दी।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image