की स्कैनिंग, सैनिटाइज बसों से राज्य में लाया जा रहा; भीलवाड़ा में तीन और संक्रमित मिले, तीनों की उम्र 30 से कम


जयपुर. 21 दिन के लॉकडाउन के चौथे दिन राज्य में सबसे बड़ी चुनौती दूसरे प्रदेशों से वापस आ रहे और राजस्थान से बाहर जा रहे लोग हैं। बाहरी राज्यों से राजस्थान आ रहे यात्रियों की बॉर्डर पर ही स्कैनिंग की जा रही है और इन्हें सैनिटाइज बसों से ही लाया जा रहा है। ऐसा ही दूसरे राज्यों को जाने वाले लोगों के साथ भी किया जा रहा है। राजस्थान में शनिवार को संक्रमण के 4 नए मामले सामने आए। अजमेर में पहला और भीलवाड़ा में 3 नए केस सामने आए। भीलवाड़ा के सभी मरीजों की उम्र 30 साल से कम है। यहां राज्य के सबसे ज्यादा 24 संक्रमित हैं। राजस्थान में अब संक्रमितों का आंकड़ा 54 पहुंच गया है। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को रोकने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। भीलवाड़ा के कलेक्टर आर भट्‌ट ने कहा कि जरूरत पड़ने पर हम पंद्रह हजार लोगों को क्वारैंटाइन कर सकते हैं।


पलायन कर रहे लोगों को घर पहुंचाएंगी रोडवेज की बसें
लॉकडाउन के चौथे दिन यूपी से राजस्थान और राजस्थान से यूपी के विभिन्न शहरों में जाने के लिए रोडवेज ने बस सेवा शुरू कर दी है। भरतपुर डिपो की बस को सैनिटाइज करने के बाद यूपी बॉर्डर पर खड़ा किया गया। यहीं से यूपी से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग कर बस में बैठाकर जयपुर भेजा गया। जिन यात्रियों के पास पैसे नहीं होंगे उनके नाम, पता मोबाइल नंबर आदि का विवरण दर्ज किया जाएगा। 


कर्फ्यू वाले इलाकों में पुलिस का फ्लैग मार्च


शनिवार को जयपुर शहर के परकोटे में सात थाना क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल ने कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों में फ्लैग मार्च किया। इस दौरान पुलिस ने लोगों से घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की। पुलिस ने यह भी आश्वस्त किया कि घरों में जरूरत का सामान डोर टू डोर पहुंचाया जाएगा। इसके साथ मानसरोवर, झोटवाड़ा और विद्याधर नगर मे भी सैनेटाइजेशन किया गया। जयपुर के चौमूं में ठेला लगाकर अजीविका चलाने वाले 20 लोग शुकवार शाम को मध्यप्रदेश के लिए पैदल रवाना हो गए। इनमें महिलाएं और बच्चे भी हैं। इस दौरान कुछ पैदल जाने वाले लोगों को पकड़ा गया तो उनके हाथ पर आइसोलेट की मुहर भी लगी मिली।


भरतपुर: दूध के टैंकर पर बैठकर लोग घर रवाना हुए 



भरतपुर से भी मजदूरों का पलायन जारी है। घर जाने के लिए लोगों को जो साधन मिल रहा है, वे उसी में सवार हो रहे हैं। भरतपुर कै हैलन में भी बड़ी संख्या में लोग दूध के टैंकर पर बैठकर घर के लिए रवाना हुए।


धौलपुर: पुलिस की सख्ती



शनिवार को धौलपुर में पुलिस ज्यादा सख्त नजर आई। शुक्रवार तक यहां बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर घूमते नजर आए थे। इसके बाद आज सख्ती करते हुए लोगों को डंडे मारे गए।


चौमूं: नजदीक खड़े दिखे लोग


जयपुर के पास चौमूं में एक दुकान पर लोग नजदीक खड़े दिखाई दिए। यह जरुरत का सामान खरीदने पहुंचे थे। बाद में वहां पहुंची पुलिस ने उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताकर घर भेज दिया।


भीलवाड़ा सबसे ज्यादा प्रभावित
भीलवाड़ा में कुल 22 लोग संक्रमित मिले हैं। दो की मौत हुई है। जयपुर में 10, झुंझुनूं में 6, जोधपुर में 6, प्रतापगढ़ में 2 , डूंगरपुर में 2 और पाली, सीकर, चुरू और अजमेर में एक-एक संक्रमित मिला है। भीलवाड़ा और झुंझुनू में सन्नाटा है। लोगों के बाहर निकलने पर सख्त पाबंदी है। दोनों जगह ही प्रशासन लोगों के घरों तक जरूरी सामान पहुंचा रहा है।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
अब मान भी जाइए, ऐसे उमड़ेगी भीड़ तो कैसे रुकेगा कोरोना का संक्रमण
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image