खुले में मास्क, लोगों की भीड़... लॉकडाउन के दौरान कितनी खौफनाक हैं ये तस्वीरें

कोरोना से निपटने के लिए महाराष्ट्र सहित पूरे देश में मंगलवार रात 12 बजे से लॉकडाउन लागू हो गया है। महाराष्ट्र में इससे पहले कर्फ्यू की घोषणा की गई थी। जहां एक ओर प्रधानमंत्री से लेकर सरकार और प्रशासन तक लोगों से घर पर रहने और एहतियात बरतने की अपील कर रहा है, वहीं दूसरी ओर ऐसी लापरवाही भरी तस्वीरें सामने आ रही हैं जो आगे चलकर भारी पड़ सकती है। महाराष्ट्र में इस्तेमाल किए मास्क और मेडिकल वेस्ट जहां-तहां फेंके जा रहे हैं जिससे संक्रमण का खतरा है।


कितनी खौफनाक है यह तस्वीर...



औरंगाबाद की जाधववाड़ी थोक सब्जी मंडी का हाल देखिए। स्थिति कितनी खौफनाक है यह तस्वीर देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है। कर्फ्यू -लॉकडाउन के बावजूद भी लोग दुकानों में भीड़ लगा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर थोक मंडी में कम दाम में सब्जियां मिलती हैं लेकिन रिटेलर ऊंचे दामों में सब्जियां बेच रहे हैं। लोगों के पास महंगी सब्जी खरीदने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।


खुले में पड़ा इस्तेमाल किया हुआ मास्क



महाराष्ट्र के औरंगाबाद में निराला बाजार रोड के पास खुले में इस्तेमाल किया हुआ मास्क फेंक दिया गया जबकि शुरू से ही अपील की जा रही है कि मास्क का निस्तारण सही तरीके से हो। खुले में ऐसे मास्क फेंकने से संक्रमण का खतरा है। मेडिकल प्रफेशनल का यह भी कहना है कि मास्क के अनुचित और गैर जरूरी इस्तेमाल से बचना चाहिए।


खुले में पड़ा मेडिकल कचरा



औरंगाबाद में ही एक अस्पताल के बाहर मेडिकल कचरा का ढेर लगा हुआ है। इसमें इस्तेमाल किए हुए इंजेक्शन भी शामिल है। यह तस्वीर एक अस्पताल के बाहर की है जहां इससे संक्रमण का खतरा है। नगर निगम स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन के मुताबिक मास्क और मेडिकल वेस्ट के सही निस्तारण के लिए विकल्प ढूंढ रहा है।


न खौफ, न चिंता, गुड़ी पड़वा के लिए खरीदारी करतीं महिलाएं



महाराष्ट्र में आज से गुड़ी पड़वा भी शुरू हो गया है। इससे एक दिन पहले मंगलवार को घाटकोपर में कर्फ्यू के दौरान भी लोगों ने नियमों को ताक पर जमकर खरीदारी की। इस दौरान लोगों हुजूम आप तस्वीर में देख सकते हैं। मार्केट में पैर रखने की भी जगह नहीं है। इससे संक्रमण का कितना खतरा हो सकता है, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।


महिलाओं- लड़कियों ने भी लगाई उठक-बैठक



महाराष्ट्र में मंगलवार को कर्फ्यू के दौरान भी सख्ती से पालन कराया गया। नागपुर में बिना वजह घर से बाहर निकले लोगों को ऐसे सबक सिखाया गया। इस दौरान महिलाओं और लड़कियों से भी कान पकड़कर उठक-बैठक कराई गई। कई लोगों पर पुलिस ने डंडा भी चलाया। 







Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image