कोरोना पर राहत की खबर: चीन पर सटीक भविष्यवाणी करने वाले नोबेल पुरस्कार विजेता बोले- जल्द खत्म होगी महामारी


नई दिल्ली


कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से पूरी दुनिया दहशत में है। इस खतरनाक वायरस का खौफ इस कदर है कि दुनियाभर की करीब एक तिहाई आबादी अपने घरों में कैद होने पर मजबूर हो गई है। मगर डर के इस माहौल में लाइलाज कोरोना वायरस को लेकर नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट की एक भविष्यवाणी लोगों को कुछ राहत दे सकती है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बायोफिजिसिस्ट और नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट ने एक भविष्यवाणी की है कि नोवल कोरोना वायरस का कहर जल्द ही खत्म हो जाएगा, क्योंकि पूरी दुनिया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रही है और इसने एक बूस्टर शॉट दिया है जो इस समय महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक है। बता दें कि माइकल लेविट वही हैं, जिन्होंने भविष्यावाणी की थी कि चीन में सवा तीन हजार लोग मरेंगे। 


साल 2003 में रसायन विज्ञान में प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार जीतने वाले माइकल लेविट ने इससे पहले चीन में महामारी के बारे में भविष्यवाणी की थी कि चीन में यह महामारी विनाशकारी प्रकोप लेकर आएगी। माइकल के बाद ही अन्य हेल्थ एक्सपर्सट्स ने ऐसी भविष्यवाणी की थी।


माइकल लेविट ने 'द लॉस एंजिल्स टाइम्स' को दिए एक इंटरव्यू में कहा, 'हमें कोरोना वायरस के बढ़ते खतरनाक प्रकोप को रोकने के लिए जो करना चाहिए, वो हम कर रहे हैं... हम सब ठीक होने जा रहे हैं।' उन्होंने आगे कहा कि परिस्थिति उतनी भयावह नहीं है, जितना कि चेताया जा रहा है।' उन्होंने कहा कि भले  ही कोरोना के बढ़ते मामलों की संख्या परेशान करने वाली है, मगर धीमी वृद्धि के स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं।  जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के डेटा के मुताबिक कोरोना वायरस से अमेरिका में 471 लोगों की मौत हो चुकी है और 35,224 मामले सामने आ चुके हैं। 


कोरोना वायरस के वैश्विक असर की बात करें तो दुनियाभर में इस वायरस से अब तक साढ़े चार लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और करीब 17 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 


लेविट कहते हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग और फ्लू के खिलाफ टीकाकरण दोनों ही कोरोना वायरस प्रसार के खिलाफ लड़ाई के लिए अहम हैं। उन्होंने  कोरोना वायरस को लेकर मीडिया को दहशत फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया। जब शुरू में चीन ने कोविड-19 से अधिक मौतों की रिपोर्ट करना शुरू किया, तब माइकल लेविट ने एक आशावादी रिपोर्ट भेजी थी। 


उन्होंने अपने नोट में लिखा था, जो चीन में सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था- 'इससे पता चलता है कि मरने वालों की संख्या में वृद्धि की दर अगले सप्ताह और भी धीमी हो जाएगी।' लेविट ने फरवरी के मध्य तक चीन में करीब लगभग 80,000 मामले और 3,250 मौतों की कुल संख्या का अनुमान लगाया था। 16 मार्च तक चीन में कोरोना वायरस के कुल 80,298 मामले सामने आए और इससे करीब 3,245 मौतों हुई है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर ओवररिएक्शन एक और संकट पैदा कर सकता है, मसलन रोजगार संकट और निराशा।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image