शेयर बाजार में लगा लोअर सर्किट, सेंसेक्स में इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट, 3658 अंक लुढ़का, निफ्टी 1051 अंक टूटा


दुनियाभर में कोरोना के 3 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। अब तक इससे 13 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। ग्लोबल मार्केट में भी कोहराम मच गया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 2307 अंकों भी भारी गिरावट के साथ 27608 के स्तर पर खुला तो वहीं निफ्टी में भारी गिरावट देखी जा रही है। शेयर बाजार भी 'लॉक' और डाउन हो रहा है। आज 10 फीसद से ज्यादा गिरावट होने के बाद शेयर बाजार में लोअर सर्किट लगा और कारोबार 45 मिनट तक ' लॉक' यानी बंद रहा। वहीं अगर यह गिरावट 15 फीसद हो जाती है तो एक और लोअर सर्किट लगेगा।

















































तारीखसेंसेक्स में गिरावट
23 मार्च3650*
18 मार्च1709
16 मार्च2713
12 मार्च2919
9 मार्च1941
6 मार्च894
28 फरवरी1448
1 फरवरी988
20 जनवरी735
6 जनवरी764

* बाजार में अभी कारोबार जारी है


11:23 बजे: सेंसेक्स 3371.52 अंक यानी 11.27% का गोता लगा चुका है। यह  26,544.44 के स्तर तक आ चुका है। वहीं निफ्टी 962 अंक तक टूट चुका है।



10:21 बजे: 45 मिनट कारोबार बंद रहने के बाद एक बार फिर कारोबार शुरू हो गया है। सेंसेक्स 2498.72 यानी 8.35% टूटकर 27,417.24  के स्तर पर है वहीं निफ्टी 842.45 यानी 9.63 फीसद लुढ़क कर 7,903.00  के स्तर पर है।


10:10 बजे: सेंसेक्स में 10 फीसद की महागिरावट के बाद कारोबार 45 मिनट के लिए रोक दिया गया है। 13 मार्च को भी बाजार खुलने के चंद मिनटों में ही सेंसेक्स 3090.62 अंक टूट गया था। निफ्टी 966.10 अंक यानी 10.07% टूटकर 8,624.05  के स्तर पर आ गया। इसके बाद लोअर सर्किट लग गया और कारोबार 45 मिनट के लिए बंद कर दिया गया था।


nifty top looser

क्या होता है लोअर सर्किट


शेयर बाजार में दो सर्किट ब्रेकर होते हैं- लोअर और अपर जब शेयर बाजार एक निर्धारित सीमा से ज्यादा गिरने लगे, तो लोअर सर्किट लगाया जाता है। इसके लिए भी सेबी की ओर से 10 फीसदी, 15 फीसदी और 20 फीसदी की सीमा निर्धारित की गई है। वहीं अपर सर्किट शेयर बाजार में तब लगाया जाता है, जब यह एक तय सीमा से ज्यादा बढ़ जाता है। सेबी की ओर से अपर सर्किट के लिए तीन स्थितियां- 10 फीसदी, 15 फीसदी और 20 फीसदी की निर्धारित की गई हैं। 


रुपया में रिकॉर्ड गिरावट


सोमवार यानी 23 मार्च 2020 को डॉलर के मुकाबले रुपया भारी कमजोरी के साथ खुला। शुरुआती कारोबार में रुपया 95 पैसे टूट चुका है और अब डॉलर 76.15 रुपये का हो गया है। वहीं, शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे की कमजोरी के साथ 75.18 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।


इस साल की 10वीं बड़ी गिरावट 


शेयर बाजार इस साल की 10वीं बड़ी गिरावट की ओर देख लिया। सेंसेक्स ने 2800 अंक टूट कर इस साल की सबसे बड़ी गिरावट जो 12 मार्च को 2919 अंकों की हुई थी उसके करीब है।  


9:30 बजे: सेंसक्स करीब 2400 अंक गिरकर 27519 पर है तो वहीं करीब 694 अंक का गोता लगाया। निफ्टी 50 और सेंसेक्स का कोई स्टॉक हरे निशान पर नहीं है। निफ्टी में बजाज फाइनेंस 14.20%, एक्सिस बैंक 11.83%, महिंद्रा एंड महिंद्रा 10 फीसद और आईसीअईसीआई बैंक 9.99 फीसद टूटकर टॉप लूजर की लिस्ट में हैं।



नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) ने भी एक बयान में कहा कि बाजार में सोमवार को सभी खंडों में सामान्य रूप से कारोबार होगा। इस विषय में जब सेबी से संपर्क किया गया तो उसके प्रवक्ता ने भी कहा कि सोमवार को शेयर बाजार के सभी खंडों में कामकाज सामान्य रूप से जारी रखा जाएगा।  कोरोना वायरस के कारण देश की आर्थिक राजधानी माने जाने वाले मुंबई शहर में सरकार ने लोगों की आवाजाही पर कई तरह की पाबंदियां लगा रखी हैं। इस बीच शेयर बाजारों ने ब्रोकरों को घर से काम करने की मंजूरी दे दी है। यह पहला मौका है जब ब्रोकरों को घर से काम करने की मंजूरी मिली है।