आठ साल की मासूम इनाया खान ने रोजा रख देश से कोविड 19 महामारी खत्म होने की मांगी दुआ


 
माह-ए-रमजान बहुत बरकत वाला महीना है इस उमस भरी गर्मी व कड़ी धूप मे रोजा रखना अपने आप में एक इम्तिहान है! रमजान का महीना इंसान को खुद पर काबू रखना सिखाता है, बुराई को हराना, गरीबों के दर्द को महसूस करना, उनकी मदद करना और खुद को एक अच्छा इंसान बनाना सिखाता है। 
आपको बतादें इनाया खान महज आठ वर्ष की उम्र की है और महिला अधिकरिता एवं बाल विकास विभाग राजस्थान सरकार से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की ब्रांड एम्बेसेडर है। और इनाया खान ने अपनी जिन्दगी का पहला रोजा रखकर देश से कोविड 19 महामारी खत्म होने की दुआ मांगी है। इनाया खान ने सभी मुस्लिम भाइयों से अपील की लॉकडाउन का पालन करते हुए नमाज, तरावीह घर पर ही पढ़ें। साथ ही  इस रमजान में सहरी और  इफ्तार की दावतों को न करते हुए, भूखों को खाना खिलाकर, जरूरतमंदों की मदद करके, ज्यादा से ज्यादा जकात अदा करें। 
अपनी और दूसरों की जान बचाकर इस पाक महीने की फजीलत को बढ़ाएं अपने गुनाहों की तौबा करें और पूरी दुनिया में फैली इस खतरनाक वबा (महामारी) से जल्द से जल्द निजात की दुआएँ करें। एक सच्चा मोमिन और देश के जिम्मेदार नागरिक होने की मिसाल पेश करें। 
 जब से देश मे लोकडाउन हुआ है तब से इनाया के परिवार और उनकी पुरी टीम गरीबों एवं जरूरतमंदो की मदद कर रहे। अल्लाह हम सब की दुआ कबूल करे और देश को इस बीमारी से बचाए।


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता
Image
गहलोत बोले- धार्मिक आधार पर लोगों को देश से बाहर करने के लिए सरकार खुद अफवाह फैला रही
Image
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं टेस्ट किट का इंतजाम करके रखें-हैल्थ केयर वर्कर्स हमारे अग्रिम योद्धा-बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए-मुख्यमंत्री -अशोक गहलोत-
Image
निर्भया कांड के दोषी की दया याचिका गृह मंत्रालय को मिली, जल्द भेजी जाएगी राष्ट्रपति के पास
Image