अनुकूल दा सोसाइटी ऑफ़ सोशल वेलफेयर एंड अवेयरनेस -निर्धन एवं असहाय लोगों को घर-घर जाकर भोजन व राशन बांट रही है


जयपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए एक ओर जहां केंद्र व राज्य सरकारें व उनकी विभिन्न विभागों की टीमें पूरी तरह से मुस्तैद हैं। वहीं दूसरी ओर कई सामाजिक संस्थाएं भी आपसी सहयोग से सरकारी तंत्र के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आमजन को राहत देने में जुटी हुई हैं। शहर में ऐसी ही एक संस्था है अनुकूल दा सोसाइटी ऑफ़ सोशल वेलफेयर एंड अवेयरनेस, जिसकी अध्यक्षा मयंका पंत का कहना है कि भूखों को भोजन देना ही श्रेष्ठ समाजसेवा है। पंत ने बताया कि संस्था के तत्वावधान में अनुकूल अन्नपूर्णा बैंक के नाम से मुहीम चलाई गई है। इस मुहिम के तहत संस्था की पूरी टीम रोजाना दिन रात एक करके निर्धन एवं असहाय लोगों को घर-घर जाकर भोजन व राशन बांट रही है। संस्था से जुड़े सुनील व उनकी टीम के जरिए शहर के सिरसी रोड, वैशाली, रंगोली गार्डन व आसपास के इलाके में प्रतिदिन पके हुए भोजन के एक हजार पैकेट बांटे जा रहे हैं। संस्था की ओर से दिए जा रहे राशन किट में पांच किलो आटा, एक किलो चावल, एक किलो चीनी, एक लीटर फूड ऑयल, एक किलो दाल व एक किलो नमक के पैकेट हैं। मयंका ने बताया कि संकट की इस परिस्थिति में हर जरुरतमंद तक राहत पहुंचाने के लिए ये सेवा कार्य किया जा रहा है।संस्था के सचिव प्रियांक पारीक ने बताया कि संस्था की तरफ से किए जाने वाले इस पुण्य कार्य में अनुकूल के सभी सदस्यों का अमूल्य योगदान है, जिन्होंने आगे आकर मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। उन्होंने बताया कि संस्था अभी तक 2 हजार से अधिक परिवारों को राशन वितरित कर चुकी है।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image