जानें, अगले हफ्ते भारत में कहां पहुंचेगा कोरोना ग्राफ, बाकी देशों में क्या है स्थिति



देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले (Coronavirus cases in India) 30 हजार के करीब पहुंच चुके हैं। इनमें से करीब 7 हजार ठीक भी हो चुके हैं और 934 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत के लिए मई का महीना बहुत महत्वपूर्ण रहने वाला है।

जानें, अगले हफ्ते भारत में कहां पहुंचेगा कोरोना ग्राफ, बाकी देशों में क्या है स्थितिअच्छी बात यह है कि न सिर्फ रिकवर होने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, बल्कि वायरस के संक्रमण की रफ्तार भी धीमी हुई है। फिलहाल एक हफ्ते के साइकल को रखकर देखें तो कोरोना का डेली ग्रोथ रेट 7.8 प्रतिशत है। आइए देखते हैं देश में कोरोना वायरस की अब तक कैसी रफ्तार रही है और अगले हफ्ते भारत में कितने केस हो सकते हैं।
ऐसी रही देश में कोरोना की चाल


भारत में 17 मार्च को कोरोना वायरस का डेली ग्रोथ रेट 16.1 प्रतिशत थी। 23 मार्च को यानी लॉकडाउन से एक दिन पहले यह अबतक के सबसे उच्च स्तर 24.8 प्रतिशत पर पहुंच गया। हालांकि, लॉकडाउन के बाद कोरोना का ग्रोथ रेट गिरा लेकिन मार्च के आखिरी और अप्रैल के शुरुआती दिनों में तब फिर तेजी से बढ़ने लगा, जब निजामुद्दीन मरकज का मामला सामने आया। अब अच्छी बात यह है कि अप्रैल के पहले हफ्ते के बाद से कोरोना का ग्रोथ रेट कुछ अपवादों को छोड़कर लगातार गिर रहा है जो 26 अप्रैल को यानी रविवार को 7.8 प्रतिशत पर पहुंच गया।
अगले हफ्ते क्या रंग दिखाएगा कोरोना


अब अगर कोरोना के रोज बढ़ने की रफ्तार वैसी ही रही जो अभी है यानी 7.8 प्रतिशत तो अगले हफ्ते कुल केस 47,186 होंगे। अगर ग्रोथ रेट 1 प्रतिशत ज्यादा रहा तो यह आंकड़ा 50,336 पहुंच जाएगा। अगर मौजूदा ग्रोथ रेट 1 प्रतिशत गिरा तो अगले हफ्ते देश में कोरोना के कुल मामले 44,206 हो जाएंगे।
सबसे बुरी तरह प्रभावित शहरों में 16 हजार केस


देश के सबसे बुरी तरह प्रभावित टॉप 10 शहरों में ही कोरोना के 16 हजार मामले हैं। मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद, इंदौर और पुणे की स्थिति तो चिंता बढ़ाने वाली है।
केरल में रिकवरी रेट बेस्ट, गुजरात में सबसे खराब


रिकवरी रेट यानी क्लोज केसेज (ठीक हुए मरीज+मरने वाले मरीज) में ठीक होने वाले मरीजों की दर सबसे अच्छी केरल में है। यहां रिकवरी रेट 98.8 प्रतिशत है। सबसे बुरी स्थिति गुजरात की है जहां रिकवरी रेट महज 67.5 प्रतिशत है।
भारत जितने ही केस वाले देशों में ग्रोथ रेट


26 अप्रैल तक भारत के अलावा स्विटजरलैंड, पुर्तगाल और पेरू कोरोना वायरस संक्रमण के केसों के मामले में आस-पास थे। अगर इन चारों देशों में कोरोना के ग्रोथ रेट की तुलना करें तो भारत में अभी भी वायरस के बढ़ने की रफ्तार ज्यादा है। 19 अप्रैल को भारत में कोरोना का ग्रोथ रेट 9.4 प्रतिशत था। स्विट्जरलैंड में 1.4 प्रतिशत, पुर्तगाल में 3 प्रतिशत और पेरू में 11.2 प्रतिशत था। अब भारत में कोरोना वायरस का ग्रोथ रेट 7.8 प्रतिशत है। स्विट्जरलैंड में 0.8 प्रतिशत, पुर्तगाल में 2.5 प्रतिशत और पेरू में 8.4 प्रतिशत है।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image