झुंझुनूं का लाल जम्मू कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुआ शहीद, घुसपैठ की कोशिश नाकाम करते हुए देश के लिए दी जान


झुंझुनूं -जम्मू कश्मीर में रविवार को नियंत्रण रेखा पर आतंकवादियों से लोहा लेते हुए झुंझुनूं का लाल शहीद हो गया। छावसरी निवासी छत्रपाल सिंह पैराटूपर के पद पर कार्यरत था। वह पांच साल साल पहले ही सेना में भर्ती हुआ था। 12 अगस्त 1997 में जन्मे छत्रपाल 2015 में सेना में शामिल हुए थे। छत्रपाल के परिवार में माता शशिकला देवी (49), पिता सुरेश कुमार पाल (52) और एक भाई सूर्य प्रताप सिंह (26) है। छत्रपाल अविवाहित थे।जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ने बताया कि कुपवाड़ा जिले के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर तैनात सैनिकों ने पीओके से इस तरफ घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकवादियों के एक समूह को देखा। उन्हें जब चुनौती देते हुए सरेंडर को कहा गया तो आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी।


सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में पांच आतंकी मारे गए और एक सैनिक शहीद हो गया तथा चार घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक ट्वीट कर अपनी संवेदना प्रकट की है। उन्होंने कहा है कि मैं झुंझनूं के जवान छत्रपाल सहित पांच सैनिकों की वीरता को सलाम करता हूं जो एलओसी पर घुसपैठ रोकने के अभियान में शहीद हो गए। 


Popular posts
ग्राम विकास अधिकारी को झूठी सूचना देना पडा भारी-पंचायती राज विभाग भीण्डर  ने दिये एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश
Image
योनि में डालने से पहले हम डिल्डो पर थूकते हैं, क्या कोराना वायरस फैलने का खतरा है?
Image
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image