कोरोना का डर=जिन डॉक्टरों पर थूका था, अब उन्हीं से कह रहे- हमारी जान बचा लो


कानपुर. कानपुर के हैलट अस्पताल में तब्लीगी जमात से जुड़े 3 लोगों को कोरोना वॉर्ड में भर्ती किया गया है। पिछले दिनों इन लोगों ने डॉक्टरों के साथ अभद्रता की, उन पर थूका और गालीगलौज भी की थी। अब इन्हें संक्रमण का डर सता रहा है। तीनों जमाती गुरुवार को पैरामेडिकल स्टाफ के सामने बिलख-बिलख कर रोने लगे। जमातियों ने पैरामेडिकल स्टॉफ से कहा कि हमें घरवालों की याद आ रही है। बस आप लोग हमारी जान बचा लीजिए।


डॉक्टरों ने बढ़ाया जमातियों का हौसला
पैरामेडिकल स्टॉफ ने इन जमातियों को समझाया कि जल्दी ठीक होने के लिए आप लोग प्रोटोकॉल का पालन करें। डॉक्टरों की बात मानें और समय से दवा खाएं। जमातियों ने कहा कि वे फीवर चार्ट खुद ही भरेंगे। इसके बाद अस्पताल स्टाफ ने जमातियों का हौसला बढ़ाया और कहा कि आप लोग जीतकर आएं, इसके लिए हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।


5 हजार 581 लोग कानपुर आए
दूसरे राज्यों और जिलों से 5581 लोग पलायन कर कानपुर और आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में आए हैं। सभी के लिए दवा, खाना और जरूरी चीजों की व्यवस्था की गई है। इनका इलाज किया जा रहा है। 5065 लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। अब कानपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 हो गई है जिनमें से 10 जमाती हैं।


जमातियों और उनके सपंर्क में आए 125 लोगों में से 40 ट्रेस
निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले या जमातियों के संपर्क में आने वाले 125 लोग शहर में छिपे थे। इनकी तलाश में पुलिस टीमों के साथ एटीएस को लगाया था। 125 लोगों की लिस्ट संबंधित थानों को सौंप दी गई है। बुधवार को 40 लोगों को खोज निकाला गया। इन लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। अगर इनमें लक्षण मिलते हैं तो इन्हें आइसोलेट कर इलाज किया जाएगा।



Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image