कोरोना वायरस चीनी वैज्ञानिकों के 'पागलपन भरे प्रयोग' का परिणाम: रूसी वैज्ञानिक


मास्‍को
किलर कोरोना वायरस की मार से बेहाल रूस के एक बहुचर्चित माइक्रोबायोलॉजिस्‍ट ने दावा किया है कि वुहान के वैज्ञानिक प्रयोगशाला के अंदर 'पागलपन भरे प्रयोग' कर रहे थे। इन्‍हीं प्रयोगों का परिणाम कोरोना वायरस है। दुनियाभर में चर्चित प्रफेसर पीटर चुमाकोव ने दावा किया कि वुहान में चीनी वैज्ञानिक वायरस की रोग पैदा करने की क्षमता को परख रहे थे और उनका कोई 'गलत इरादा नहीं था।' हालांकि उन्‍होंने जानबूझकर इस जानलेवा वायरस को जन्‍म‍ दिया।

मास्‍को में एक संस्‍थान के मुख्‍य शोधकर्ता प्रफेसर चुमकोव ने कहा, 'चीन के वुहान स्थित प्रयोगशाला में वैज्ञानिक पिछले 10 साल से विभिन्‍न तरीके के कोरोना वायरस को व‍िकसित करने में सक्रिय रूप से लगे हुए थे। संभवत: चीनी वैज्ञानिकों ने ऐसा रोग पैदा करने वाली नस्‍ल पैदा करने के लिए नहीं बल्कि उनकी रोग पैदा करने की क्षमता को परखने के लिए ऐसा किया।'


प्रफेसर चुमकोव ने कहा, 'मेरा मानना है कि चीनी वैज्ञानिकों ने पागलपन भरे प्रयोग किए। उदाहरण के लिए उन्‍होंने जीनोम को अंदर डाला जिससे वायरस को इंसान की कोशिकाओं को संक्रमित करने की क्षमता हासिल हो गई। अब इन सब का विश्‍लेषण किया जा रहा है। वर्तमान कोरोना वायरस के पैदा होने की तस्‍वीर अब धीरे-धीरे साफ हो रही है।


एचआईवी की वैक्‍सीन बनाने के लिए कोरोना को दिया जन्‍म!
मास्‍को के अखबार कोमसोमोलेट्स से बातचीत में प्रफेसर चुमकोव ने कहा, 'कई चीजों को वायरस के अंदर डाला गया है जिसने जीनोम के स्‍वाभाविक सीक्‍वेंस का स्‍थान ले लिया है। इसी वजह से कोरोना वायरस के अंदर बेहद खास चीजें आ गई हैं। मुझे आश्‍चर्य हो रहा है कि इस वायरस के पीछे की कहानी लोगों के पास बहुत धीरे-धीरे आ रही है।'


उन्‍होंने कहा, 'मैं समझता हूं कि इस पूरे मामले की एक जांच होगी और इसके बाद इस तरह के खतरनाक वायरस के जीनोम को रेगुलेट करने के लिए नए न‍ियम बनाए जाएंगे। अभी इस वायरस के लिए किसी जिम्‍मेदार ठहराना ठीक नहीं होगा।' प्रफेसर चुमकोव ने कहा कि उन्‍हें लगता है कि चीनी वैज्ञानिक एचआईवी की वैक्‍सीन बनाने के लिए इस वायरस की अलग-अलग नस्‍ल बना रहे थे और उनका कोई गलत इरादा नहीं था। 


Popular posts
क्वारेंटाइन के उल्लंघन पर प्रषासन को अलर्ट में सहयोगी-‘‘राज कोविड इन्फो एप’’,
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
बैंकों के केवाईसी फॉर्म्स में ग्राहकों को अपने धर्म का करना पड़ सकता है उल्लेख
Image
शहर में 101 मरीजों की मौतें; एसएमएस हॉस्पिटल में डॉक्टर व लैब टेक्निशियनों के संक्रमित होने से 5441 जांचें पेंडिंग
Image
 संयुक्त राष्ट्र-सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Image