राजस्थान : 69 नए पॉजिटिव मिले,अब राज्य में कोरोना के 2152 मरीज हो गए-राजस्थान सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे अपने यहां के मजदूरों को निकालने की तैयारी कर ली है


यह तस्वीर नागौर की है। यहां 14 अप्रैल को एक कोरोना संक्रमित मां ने बच्चे को जन्म दिया था। बाद में नवजात भी संक्रमित पाया गया। इस बच्चे की देखरेख आइसोलेशन वार्ड का पैरामेडिकल स्टाफ कर रहा है।


जयपुर. राजस्थान में रविवार को कोरोना संक्रमण के 69 केस आए। इनमें नागौर में 20, जोधपुर में 23, अजमेर में 11, जयपुर में 6, कोटा में 3, धौलपुर में 2 जबकि झालावाड़, भरतपुर और हनुमानगढ़ में एक-एक संक्रमित मिला। अब राज्य में कोरोना के 2152 मरीज हो गए हैं। उधर, जोधपुर में रविवार देर रात 60 साल की महिला की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। उन्हें 24 अप्रैल को महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती किया गया था। राज्य में अब तक संक्रमण से 36 लोगों की जान जा चुकी है। 


नागौर के बासनी में एक संक्रमित मां ने 14 अप्रैल को बच्चे को जन्म दिया। नवजात कोरोना संक्रमित है। हालांकि, अब उसकी तबीयत ठीक है। नवजात को संभालने के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड का पूरा स्टाफ जुटा हुआ है। बच्चे के माता-पिता समेत परिवार के 9 सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। नागौर में बासनी कोरोना का हॉटस्पॉट है। 


दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लाने की तैयारी


राजस्थान सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे अपने यहां के मजदूरों को निकालने की पूरी तैयारी कर ली है। मुख्यमंत्री अशोक गहलाेत के निर्देश के बाद अधिकारियों ने इसका खाका तैयार कर लिया है। राजस्थान से दूसरे प्रदेशों के प्रवासी मजदूरों को भी उनके घर भेजा जाएगा। इसके लिए प्रवासी मजदूरों को हेल्पलाइन नंबर-18001806127, emitra.rajasthan.gov.in पोर्टल, ई-मित्र मोबाइल ऐप या ई-मित्र कियोस्क पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। 
यह तस्वीर जयपुर जिले के दंताला गांव की है। जयपुर में संक्रमण के केस बढ़ने के बाद इस गांव की सीमाएं यहां के रहवासियों ने ही सील कर दी हैं।


जयपुर: शहर में रविवार को छह नए केस सामने आए। इससे पहले शनिवार को सुखद खबर आई। एसएमएस हॉस्पिटल में कोरोना को हराने वाले 46 मरीजों को एक साथ डिस्चार्ज किया गया। जयपुर में अब तक 132 मरीज रिकवर हो चुके हैं। जयपुर में अब तक 801 संक्रमित मिल चुके हैं।


अजमेर: यहां अब तक 123 केस सामने आ चुके हैं। यहां दरगाह बाजार, नला बाजार, मुस्लिम मोची मोहल्ला, लाखन कोटड़ी, नया बाजार, कड़क्का चौक समेत इससे सटे इलाके हॉट स्पॉट घोषित किए जा चुके हैं। चिंता की बात यह है कि यहां मिले संक्रमितों में किसी में भी कोरोना के लक्षण नजर नहीं आ रहे। अब स्वास्थ्य विभाग यहां भीलवाड़ा की तर्ज पर हर व्यक्ति का कोरोना टेस्ट करवाने की तैयारी में है।


राजसमंद/चित्तौड़गढ़: उदयपुर, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा के बाद अब राजसमंद और चित्तौड़ में भी कोरोना की एंट्री हो गई है। राजसमंद और चित्तौड़गढ़ जिले दो दिन के भीतर रेड जोन में शामिल हो गए हैं। इनके साथ ही, यहां प्रशासन ने लॉकडाउन में दी गई ढील वापस लेने की तैयारी शुरू कर दी है। राजसमंद में एक लड़का पॉजिटिव मिला है। इसके बाद शनिवार को लैब में काम करने वाला एक युवक संक्रमित मिला। 


राजस्थान: 33 में से 28 जिलों में पहुंचा संक्रमण 


    प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 800 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 396 (इसमें 47 ईरान से आए), कोटा में 152, टोंक में 115, अजमेर में 123, नागौर में 113, भरतपुर में 110, बांसवाड़ा में 61, जैसलमेर में 48 (इसमें 14 ईरान से आए), झुंझुनूं में 42, बीकानेर में 37, भीलवाड़ा में 33 मरीज मिले हैं। उधर, झालावाड़ में 30, दौसा में 21, चूरू में 14, हनुमानगढ़ में 11, सवाईमाधोपुर में 8, अलवर में 7, डूंगरपुर में 6, सीकर और धौलपुर में 5-5, उदयपुर में 4, करौली में 3, पाली, बाड़मेर और प्रतापगढ़ में 2-2 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। वहीं चित्तौड़गढ़ और राजसमंद में 1-1 संक्रमित मिला।
    पिछले 24 घंटे में प्रदेश में संक्रमण से चार लोगों की जान जा चुकी है। इसमें दो की जयपुर और दो की जोधपुर में जान गई। प्रदेश में संक्रमण से अब तक 36 लोगों की मौत हुई है। इनमें सबसे ज्यादा 20 मौतें जयपुर में हुईं। इसके अलावा कोटा और जोधपुर में चार-चार, भीलवाड़ा में दो-दो की जान जा चुकी है। इसके अलावा नागौर, बीकानेर, अलवर, भरतपुर और टोंक और सीकर में एक-एक की मौत हुई। इनमें एक 13 साल की बच्ची है और एक 30 साल का युवक था। बाकी सभी मृतकों की उम्र 47 साल से अधिक थी।
    कोराना संकट के बीच राहत की खबर यह है कि अब तक प्रदेश में 244 लोग स्वस्थ भी हुए हैं। जयपुर में 54 (2 इटली के नागरिक), जोधपुर 41, बीकानेर में 32, भीलवाड़ा में 24, जैसलमेर में 23, बाड़मेर 21, झुंझुनू 17, चुरू 9, डूंगरपुर 5, हनुमानगढ़, पाली और प्रतापगढ़ में दो-दो, अलवर, करौली, सीकर और टोंक में एक-एक  मरीज को डिस्चार्ज किया गया है। इसके अलावा,  ईरान से जोधपुर और जैसलमेर लाए गए 8 लोगों भी संक्रमण से मुक्त हुए हैं।


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता
Image
गहलोत बोले- धार्मिक आधार पर लोगों को देश से बाहर करने के लिए सरकार खुद अफवाह फैला रही
Image
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं टेस्ट किट का इंतजाम करके रखें-हैल्थ केयर वर्कर्स हमारे अग्रिम योद्धा-बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए-मुख्यमंत्री -अशोक गहलोत-
Image
निर्भया कांड के दोषी की दया याचिका गृह मंत्रालय को मिली, जल्द भेजी जाएगी राष्ट्रपति के पास
Image