सूरत की डायमंड बोर्स में प्रवासी मजदूरों ने पथराव किया, कहा- खाना नहीं मिल रहा है, हमें घर वापस भेजा जाए


सूरत. खाजोड़ में तैयार की जा रही एशिया की सबसे बड़ी डायमंड बोर्स में काम कर रहे मजदूरों ने मंगलवार को जमकर हंगामा किया। लॉकडाउन के बावजूद काम लिए जाने से मजदूरों में गुस्सा है। मगजदूरों ने बोर्स के कार्यालय पर पथराव और तोड़फोड़ कर दी। मजदूरों ने आरोप लगाया कि उन्हें खाना नहीं मिल पा रहा है। मजदूरों ने कहा कि उन्हें घर भेज दिया जाए। यहां पर करीब 4 हजार मजदूर काम कर रहे हैं।


पहले भी हो चुका है हंगामा
इसके पहले भी प्रवासी मजदूर 10 अप्रैल को हंगामा कर चुके हैं। मजदूरों का आरोप था कि उन्हें पर्याप्त खाना नहीं मिल रहा है। कोरोनावायरस संकट के दौरान वे यहां असुरक्षित हैं। तब किसी तरह पुलिस ने मजदूरों को समझाकर शांत किया था। 


पुलिस ने मजदूरों को घर भेजने के लिए प्रशासन से मदद मांगी
डायमंड बोर्स में मजदूरों का हंगामा देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मजदूरों को वापस घर भेजने के लिए पुलिस ने प्रशासन से सहयोग मांगा है। इनमें से ज्यादातर मजदूर यूपी-बिहार से हैं। राज्य सरकार की मदद से ही इन मजदूरों को वापस घर भेजा जा सकता है। 


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता
Image
गहलोत बोले- धार्मिक आधार पर लोगों को देश से बाहर करने के लिए सरकार खुद अफवाह फैला रही
Image
हार के बाद महाराष्ट्र बीजेपी में बगावत! पंकजा मुंडे ने कहा- 8 से 10 दिन में लूंगी बड़ा फैसला
Image
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं टेस्ट किट का इंतजाम करके रखें-हैल्थ केयर वर्कर्स हमारे अग्रिम योद्धा-बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए-मुख्यमंत्री -अशोक गहलोत-
Image