अबतक 10 लाख होते केस! 3 लॉकडाउन में कोरोना की चाल देखिए


नई दिल्ली
भारत में कोरोना वायरस को रोकने के लिए लगाया गया तीसरा लॉकडाउन अब खत्म होने के नजदीक है। फिलहाल आगे लॉकडाउन लगेगा या नहीं इसपर सस्पेंस बना हुआ है लेकिन लॉकडाउन से देश को फायदा हुआ यह साफ है। हेल्थ मिनिस्ट्री से जुड़े अधिकारी कह चुके हैं अगर लॉकडाउन नहीं लगाया जाता तो केस अबतक 10 लाख तक पहुंच चुके होते। फिलहाल देश में कोरोना के 70 हजार केस सामने आ चुके हैं।


15 अप्रैल तक हो जाते 8 लाख से ज्यादा केस!
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बात अप्रैल महीने में ही कही थी। तब देश में कुल 7 हजार केस सामने आए थे। स्वास्थ्य मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी लव अग्रवाल ने तब बताया था कि अगर देश में लॉकडाउन लागू नहीं किया गया होता तो कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ जाते। इस वजह से 15 तब अप्रैल तक देश में 8.2 लाख से ज्यादा केस हो जाते। अगर ऐसा होता तो देश में क्या खौफनाक मंजर होता इसका अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है। ऐसी स्थिति में केस 10 लाख के पार पहुंच चुके होते।


केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 70 हजार 756 हो गई है। सोमवार तक भारत में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या 2,293 हुई। अबतक 22454 लोग कोरोना से ठीक होकर घर जा चुके हैं। कुल 70,799 केसों में से 66 प्रतिशत सिर्फ चार राज्यों में हैं। इसमें महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और दिल्ली शामिल हैं। 


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
अब मान भी जाइए, ऐसे उमड़ेगी भीड़ तो कैसे रुकेगा कोरोना का संक्रमण
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image