अम्फान का कहर शुरू, पश्चिम बंगाल और ओडिशा में 2-2 लोगों की मौत


पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया के बीच चक्रवात अम्फान की लैंडफॉल प्रकिया शुरू हो चुकी है। खबर है कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तेज हवाओं की वजह से काी नुकसाना हुआ है।महाचक्रवात अम्फान के ओडिशा के तटीय इलाकों के जिलों में भारी नुकसान हुआ है। ओडिशा के तमाम हिस्सों में बिजली के ग्रिड ध्वस्त हुए हैं, वहीं कई इलाकों में पेड़ों के गिरने के कारण मार्ग अवरुद्ध हुए हैं। इन स्थितियों को देखते हुए ओडिशा सरकार और एनडीआरएफ की टीमों ने यहां बड़े पैमाने पर राहत कार्य शुरू किए हैं।
भारतीय मौसम विभाग की तमाम तैयारियों के बीच सुपर साइक्लोन अम्फान बुधवार दोपहर करीब ढाई बजे ओडिशा के समुद्री तट से टकरा चुका है। ओडिशा के बालासोर समुद्री तट पर पहुंचे इस चक्रवात के कारण ओडिशा के तटीय जिलों में बिजली के ढांचे और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान हुआ है। वहीं मौसम विभाग की ओर से पश्चिम बंगाल में नुकसान की बात कहते हुए यहां अधिकारियों को अलर्ट किया गया है।
बिजली ढांचे को हुआ बड़ा नुकसान
NBT


ओडिशा में तेज हवाओं के कारण तमाम इलाकों के पेड़ उखड़े हैं। वहीं भद्रक, बालासोर, केंद्रपाड़ा और ओडिशा के कुछ अन्य जिलों में बिजली के ढांचे को बड़ा नुकसान हुआ है। इन जिलों में एनडीआरएफ की टीमों ने बड़े पैमाने पर राहत कार्य शुरू किया है।
ओडिशा के तमाम जिलों में राहत कार्य शुरू


आधिकारिक जानकारी के अनुसार, राहत और बचाव के लिए एनडीआरएफ की 41 टीमें तैनात की गई हैं और प. बंगाल में सिर्फ दो टीमों को रिजर्व रखा गया है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सेना, एयरफोर्स, नेवी और कोस्ट गार्ड की टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है। इन टीमों ने ओडिशा के तमाम इलाकों में राहत कार्य शुरू कर दिया है।


Popular posts
ग्राम विकास अधिकारी को झूठी सूचना देना पडा भारी-पंचायती राज विभाग भीण्डर  ने दिये एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश
Image
योनि में डालने से पहले हम डिल्डो पर थूकते हैं, क्या कोराना वायरस फैलने का खतरा है?
Image
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image