धैर्य दे गया जवाब / टीचर ने कुंए में कूद कर दी जान, दो घंटे की मशक्कत के बाद शव निकाला; परिजन बोले बीमारी के कारण परेशान रहता था


करौली. जिला मुख्यालय की इंदिरा कॉलोनी स्थित दद्दू का खेत निवासी टीचर ने शुक्रवार को घर के सामने बने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने जिला आपदा प्रबंधन की टीम के साथ 2 घंटे की कड़ी मशक्कत से शव को कुंए से निकालकर मोर्चरी पहुंचाया।


डीएसपी महेश मीणा ने बताया कि इंदिरा कॉलोनी की दद्दू कॉलोनी निवासी विष्णु गुप्ता (45) पुत्र मदन मोहन गुप्ता घर के सामने स्थित कुएं में कूद गया। सूचना पर पुलिस मय जाब्ता मौके पर पहुंची और शव को कुएं से निकालने के प्रयास किए। साथ ही जिला आपदा प्रबंधन टीम को मौके पर बुलाया। आपदा प्रबंधन की टीम ने 2 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शव को कुएं से निकाल कर चिकित्सालय की मोर्चरी पहुंचाया।


परिजन बोले बीमारी से परेशान रहता था
परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार विष्णु लंबे समय से बीमारी से परेशान था जिसके चलते कुंए में कूदकर उसने आत्महत्या कर ली। वह अविवाहित था और निजी स्कूल में टीचर था। वह तीन भाइयों में सबसे बड़ा था। विष्णु की मौत से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं विष्णु के कुंए में कूदने की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में भीड़ जमा हो गई। भीड़ नियंत्रित करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।


परिजनों ने जो रिपोर्ट पुलिस को पेश की है उसमें विष्णु के आत्महत्या का कारण लंबी बीमारी से त्रस्त होना बताया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। टीचर के कुंए में कूदने की सूचना पर करौली डीएसपी महेश मीणा, नगर परिषद सभापति अजय प्रजापत, कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और घटनाक्रम की जानकारी ली। सभापति ने परिजनों को ढांढ़स बंधाया।


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image